Saturday , November 18 2017
Home / Khaas Khabar / भाजपा सांसद बोले, गौमूत्र से सिंचाई करो तो गन्ने मीठे, लंबे और मोटे होंगे

भाजपा सांसद बोले, गौमूत्र से सिंचाई करो तो गन्ने मीठे, लंबे और मोटे होंगे

राज्यसभा में शुक्रवार को चर्चा के दौरान भारतीय जनता पार्टी के एक सांसद ने गाय और गोबर की खुबियों को गिनाया। कर्नाटक के भाजपा बासवराज पाटिल ने कहा कि गाय ही एक ऐसा जानवर है जो सांस लेने के दौरान ऑक्सीजन लेती है और ऑक्सीजन छोड़ती भी है। गाय के दूध से बने घी में ऑक्सीजन की मात्रा 47 फीसदी होती है।

बासवराज पाटिल ने दावा किया कि अगर मरने के बाद गाय की लाश को मिट्टी में गाड़ दिया जाए तो इससे जो खाद बनता है उसकी कीमत 8 हजार रुपये तक होती है। उन्होंने यह भी कहा कि गौमूत्र से अगर गन्ने के खेतों की सिंचाई की जाए तो गन्ने लंबे मोटे और ज्यादा मीठे होंगे। साथ ही इसमें चीनी की मात्रा भी ज्यादा होगी।

दरअसल, राज्यसभा में उन्होंने डीएमके सांसद टी. शिवा की तरफ से लाए गए एक प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान ये बात कही। डीएमके सांसद टी. शिवा देशी नस्ल के जानवरों को बचाने के लिए कदम उठाने की मांग कर रहे थे। यह एक निजी सदस्य का प्रस्ताव था। इसका समर्थन करते हुए कांग्रेस के सांसद बी. के. हरिप्रसाद ने कहा कि गाय की नस्ल को बचाने के लिए कदम उठाए जाने चाहिए। लेकिन भैंस और सांड पर भी ध्यान देना चाहिए।

इस दौरान डीएमके सांसद प्रिवेन्शन ऑफ क्रूएल्टी टू एनिमल्स एक्ट-1960 में संशोधन करने की मांग की। उन्होंने कहा कि अगर खेतों में जुताई का काम जानवरों से किया जाए तो डीजल की बचत की जा सकती है। इसके अलावा उन्होंने फसलों को एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाने के लिए भी जानवरों के इस्तेमाल की पैरवी की।

लेकिन कांग्रेस के सांसद जयराम रमेश ने इसका विरोध किया। जयराम रमेश ने कहा कि डीएमके सांसद का प्रस्ताव जल्लीकट्टू को लेकर ज्यादा है न कि उनका मकसद देशी नस्ल के जानवरों की रक्षा करने के लिए है।

TOPPOPULARRECENT