भगवा विरोध: टीपू जयंती समारोह को लेकर कांग्रेस-बीजेपी में तकरार

भगवा विरोध: टीपू जयंती समारोह को लेकर कांग्रेस-बीजेपी में तकरार
Click for full image

बेंगलुरु: 10 नवंबर से राज्य भर में मनाये जाने वाली टीपू जयंती समारोह के खिलाफ भाजपा ने विरोध प्रदर्शन करने का फैसला किया है। जबकि मैसूर के पूर्व रजा टीपू सुल्तान की यह समारोह कांग्रेस सरकार की ओर से आधिकारिक तौर पर मनाई जा रही हैं।

eFacebook पे हमारे पेज को लाइक करqने के लिए क्लिक करिये

पत्रकारों से बातचीत करते हुए भाजपा नेता मुरली धर राव ने कहा कि भाजपा धर्मनिरपेक्ष है और देश में जनता के सभी वर्गों का समर्थन करती है, लेकिन वह टीपू जयंती का विरोध करेगी, क्योंकि इस स्थानीय राजा ने दक्षिण भारत में अपने शासनकाल में कई हिन्दुओं को मारा है।

उन्होंने कांग्रेस सरकार पर मुस्लिम वोट पाने के लिए वोट बैंक की राजनीति करने का आरोप लगाया। उन्होंने परिवर्तन यात्रा को रोकने के खिलाफ सरकार को चेतावनी भी दी। राव ने आरोप लगाया कि टीपू सुल्तान न सिर्फ हिंदूओं के खिलाफ थे, बल्कि इन्होंने कर्नाटक, केरल, अन्य जगहों पर जबरन धर्म परिवर्तन का काम किया।
] इधर कांग्रेस ने बीजेपी की इस आपत्ति को खारिज करते हुए कांग्रेस नेता डी के शिव कुमार ने कहा कि कर्नाटक में टीपू सुल्तान की जन्मदिवस आधिकारिक तौर पर मनाई जाती है, और किसी भी सरकारी कार्यक्रम में केंद्रीय मंत्रियों को प्रोटोकॉल के तहत आमंत्रित किया जाता है। ऐसे में अगर कोई इसका विरोध करता तो उसका व्यक्तिगत मामला होगा। उन्होंने बीजेपी की टीपू सुल्तान के जन्मदिवस समारोह को ख़त्म करने की घोषणा को हास्यापद बताया।

Top Stories