BHU मामला- संस्कृत पढ़ने वाले डॉक्टर फिरोज खान ने इस्तीफ़ा दिया

BHU मामला- संस्कृत पढ़ने वाले डॉक्टर फिरोज खान ने इस्तीफ़ा दिया

बीएचयू के संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय से डॉक्टर फिरोज खान ने असिस्टेंट प्रोफेसर के पद से इस्तीफा दे दिया है. अब उन्हें बीएचयू के आयुर्वेद संकाय के सहिंता विभाग में पढ़ाने के लिए नियुक्ति पत्र दिया गया है. फिरोज खान को आयुर्वेद संकाय के सहिंता विभाग में बतौर असिस्टेंट प्रोफेसर ज्वाइन करना है. इसी वजह से डॉ. फिरोज खान ने संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय के असिस्टेंट प्रोफेसर पद से इस्तीफा दे दिया है.

पांच नवंबर को संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय में नियुक्ति होने के बाद से डॉक्टर फिरोज खान के खिलाफ कुछ छात्र आंदोलन कर रहे थे. प्रदर्शनकारी छात्रों का कहना है कि एक मुसलमान हिंदू धर्म ग्रंथों को नहीं पढ़ा सकता है, जिसमें विभाग का पाठ्यक्रम शामिल है. विरोध की वजह से आठ नवंबर से संस्कृत विद्या धर्म विभाग में कोई कक्षाएं नहीं हुई हैं.

क्या था पूरा मामला

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय (बीएचयू) के संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय में मुस्लिम प्रोफेसर की नियुक्ति छात्रों ने विरोध किया. बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के कुछ छात्रों ने कुलपति के निवास के पास फिरोज की नियुक्ति रद्द करने की मांग को लेकर धरना भी दिया. मांगें नहीं मानने पर कुछ छात्रों ने तो कोर्ट जाने की धमकी तक दे डाली थी.

 

वहीं इस मामले पर कई साधु संतों ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी थी. स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने संस्कृत विद्या धर्म विज्ञान संकाय में मुस्लिम प्रोफेसर की नियुक्ति को ‘अनुचित’ ठहराते हुए कहा कि धर्म विज्ञान संकाय में अनुभवात्मक विषयों का अध्ययन होता है. उन्होंने कहा, “जिसको हमारे धर्म का अनुभव ही नहीं है, वह पोथी पढ़कर क्या पढ़ाएगा.” वहीं अन्य साधु संतों ने फिरोज खान का समर्थन किया था.

Top Stories