Wednesday , September 26 2018

खुद के अपहरण का नाटक रचने वाला 20 साल बाद गिरफ्तार

पटना। बिहार पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार कर लिया है जो दक्षिण भारत में अपने खुद के अपहरण के बाद 20 साल बाद फर्जी पहचान के साथ रह रहा था। प्रदेश के अररिया जिले का निवासी मोहम्मद शोएब वर्ष 1996 में उस समय रहस्यमय तरीके से गायब हो गया था जब आरोपित शोएब ने गांव की ही एक युवती को प्यार का झूठा झांसा फंसा लिया था।

गांव के पंचों ने पीड़िता की शादी आरोपी से करा दी थी। इसके बाद आरोपी फरार हो गया और तेलंगाना राज्य के महबूबनगर में फ़र्ज़ी नाम के साथ रहने लगा। पीड़िता के पिता ने स्थानीय अदालत में अपहरण का मामला दर्ज किया जबकि उनकी पत्नी बीवी कालिला ने अदालत में दहेज यातना का मामला दर्ज किया था।

दोनों मामलों की जांच चल रही है और निश्चित रूप से अदालत ने लापता व्यक्ति के खिलाफ गैर-जमानती गिरफ्तारी वारंट जारी किया था जो दहेज उत्पीड़न के मामले में बार-बार सम्मन के बावजूद उपस्थित नहीं हुआ। रिपोर्टों में कहा गया है कि लापता आदमी का पता लगाने में पुलिस की असफलता पर अदालत ने बिहार के अधिकारियों को बार-बार फटकार लगाई।

दिल्ली पुलिस द्वारा उपलब्ध कराई गई सूचना के आधार पर बिहार पुलिस की एक टीम ने इसी हफ्ते तेलंगाना में एक जगह पर छापा मारा और आरोपीको गिरफ्तार किया, जिसे शुक्रवार को बिहार लाया गया था। उन्हें जेल भेज दिया गया है और मामले की सुनवाई अगले सप्ताह शुरू होगी। स्थानीय उप-डिवीजनल पुलिस अधिकारी कुमार देवेंद्र सिंह ने कहा कि उसकी गिरफ्तारी हमारे लिए एक बड़ी चुनौती थी और हमने इसको अंजाम दिया।

गल्फ न्यूज के अनुसार चालाक आरोपी जमाल खान के फर्जी नाम के साथ तेलंगाना में छिपा हुआ था। पुलिस के अनुसार वहां रहने के दौरान आरोपी ने न केवल उसका नाम बदल लिया बल्कि एक महिला से भी शादी की और इस दौरान वह चार बच्चों का पिता बन गया। आरोपित की गिरफ्तारी से न सिर्फ अपहरण का मामला झूठा साबित होने की संभावना है, बल्कि पीड़िता को न्याय मिलने के आसार बढ़ गए हैं।

TOPPOPULARRECENT