Monday , December 11 2017

इस्तीफ़ा देने से 10 मिनट पहले लालू को फोन कर नीतीश ने कहा – ”मुझे माफ़ करें”

बिहार में महागठबंधन तोड़ने से कुछ वक़्त पहले ही नीतीश कुमार ने लालू प्रसाद यादव को फोन किया था । सीएम पद से इस्तीफ़ा देने के लगभग 10 मिनिट पहले ही नीतीश ने आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद यादव को फोन कर माफी मांगी थी ।

सूत्रों के मुताबिक, नीतीश ने कहा था, “लालू जी, मुझे माफ कर दीजिए लेकिन 20 माह तक सरकार चलाने के बाद मैं इसे अब और नहीं चला सकता. मैं अपना पद छोड़ने जा रहा हूं.” हालांकि लालू ने उन्हें अपने फैसले पर विचार करने के लिए कहा था.

इसके आधा घंटे के बाद ही सभी न्यूज चैनलों पर यह खबर प्रसारित हो गई कि नीतीश कुमार ने लालू और कांग्रेस से नाता तोड़ लिया है. बाद में तस्वीर सामने आई कि जेडीयू, बीजेपी के सहयोग से सरकार बनाने जा रही है.

शुक्रवार को बिहार में एनडीए की नई सरकार ने विधानसभा में बहुमत हासिल कर लिया. नीतीश के पक्ष में 131 वोट पड़े और विरोध में 108 वोट पड़े. राजद ने सदन से वॉकआउट किया और सदन की कार्यवाही स्थगित कर दी गई है.

नीतीश कुमार ने एक बार फिर दोहराया है कि जो किया बिहार के लिए किया. अब राज्य और केंद्र में एक ही सरकार होगी.पैसा बनाने के लिए राजनीति नहीं की. मुझे धर्मनिरपेक्षता का पाठ न पढ़ाएं. मुझे मजबूर किया तो आइना दिखाएंगे. ये लोग अहंकार और भ्रम में जीने वाले लोग हैं.

आरजेडी ने राज्यपाल के फैसले को पटना हाईकोर्ट में चुनौती दी है. हाईकोर्ट में आरजेडी की याचिका मंजूर कर ली गई है. इस पर सोमवार को सुनवाई होगी. आरजेडी का कहना है कि सबसे बड़ी पार्टी होने के नाते उन्हें सरकार बनाने के लिए बुलाया जाना चाहिए था.

TOPPOPULARRECENT