Monday , July 16 2018

मुसलमानों ने पेश की भाईचारे की मिसाल, हनुमान मंदिर बनाने के लिए दान कर दी ज़मीन

PC: IANS

देश में बढ़ती नफरत के बीच एक राहत देने वाली खबर है। खबर बेगुसराय के बखरी इलाके से है जहां जर्जर हो चुके हनुमान मंदिर को दोबारा बनाने के लिए मुस्लिम समुदाय आगे आया और मंदिर के निर्माण के लिए अपनी ज़मीन दे दी।

जर्जर हो चुके हनुमान मंदिर में जगह की कमी के चलते लोगों को  पूजा-पाठ करने में दिक्कत आती थी। जर्जर हो चुके मंदिर के निर्माण के लिए बखरी के थाना प्रभारी सुनील कुमार ने लोगों ने आर्थिक मदद की मांग की।

सब तैयार हो गए लेकिन मंदिर को बड़ा करने के लिए जमीन की भी जरूरत थी। मंदिर के साथ लगती जमीन मुस्लिम लोगों को थी। जब उनसे इस बारे में बात की गई तो इस मंदिर के लिए मुस्लिम परिवारों ने न केवल अपनी जमीन दान दी, बल्कि अपनी क्षमता के हिसाब से आर्थिक मदद भी की।

सुनील कुमार ने बताया कि मोहम्मद मुर्तजा ने अपनी मर्जी से मंदिर के पास की अपनी जमीन दान किया और मोहम्मद तुफैल अहमद, मोहम्मद सलीम और कारी अहमद ने मंदिर की रिपेयर के काम में बढ़-चढ़कर मदद भी की।

जिसके बाद इस हनुमान मंदिर में रामनवमी से फिर पूजा-पाठ शुरू हो गया। रामनवमी के मौके पर हिन्दुओं के साथ मुस्लिम परिवार के लोग भी शामिल हुए। इन लोगों का कहना है कि अगर हिंदू और मुस्लिम धर्म के नाम पर सियासी रोटी सेंकने वालों के बहकावे में न आकर एकजुट हो जाएं तो भारत दुनिया का सबसे ताकतवर देश बन जाएगा।

TOPPOPULARRECENT