वहशी होती भीड़ के ख़िलाफ़ सड़क से संसद तक विरोध के बाद, अब 50 शहरों में निकाली जाएगी बाइक रैली

वहशी होती भीड़ के ख़िलाफ़ सड़क से संसद तक विरोध के बाद, अब 50 शहरों में निकाली जाएगी बाइक रैली

देश भर में बढ़ती मॉब लिंचिंग की घटनाओं के ख़िलाफ़ लगातार विरोध प्रदर्शन हो रहा है। सड़क से लेकर संसद तक सरकार से इस भीड़तंत्र को रोकने के लिए सख्त कदम उठाने की मांग हो रही है।

इस बीच अब वहशी होती भीड़ को इंसानियत की याद दिलाने और पीड़ित परिवार की मदद करने के लिए एक जागरूकता अभियान की शुरुआत की जा रही है।

इस अभियान के तहत देश भर में करीब पचास शहरों में इसी महीने के तीस तारिख को एक बाइक रैली निकाली जाएगी।

रिपोर्ट के मुताबिक़, यह रैली मेरठ, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर, पूना, इलाहाबाद, केरल, देवबंद, तेलंगाना, इलाहाबाद,आज़मगढ़ आदि शहरों में निकाली जाएगी।

इसके अलावा राजधानी दिल्ली से मेवात तक भी बाइक रैली निकलेगी, जिस दौरान पीड़ित परिवार से मुलाकात की जाएगी, पैंफलेट बांटे जाएंगे, रेलवे स्टेशन समेत जगह-जगह बैनर लगाए जाएंगे और लोगों से बातचीत की जाएगी।

इस पूरी मुहिम को  यूनाइटिड अगेंस्ट हेट (नफरत के खिलाफ हम सब की आवाज़।) नाम दिया गया है।

इस अभियान को शुरू करने वालों में नदीम खान, जेएनयू छात्रसंघ अध्यक्ष मोहित पांडे, पत्रकार अनिल चमड़िया, नाहस माला (एसआईओ के राष्ट्रीय अध्यक्ष) शारिक अंसर, मीम संस्था से नावेद चौधरी, फरमान शारिक, सुप्रीम कोर्ट के वकील फरमान खान, जेएनयू से मनोज्योत्सना, जामिया से मीरान हैदर, सोशल वर्कर खालिद सैफी और परवेज़ खान शामिल हैं।

नदीम खान का कहना है कि वे लोग इस अभियान के तहत पीआईएल करेंगे, डॉक्यूमेंटेशन और पीड़ित परिवारों को मदद करेंगे।

Top Stories