जन्मदिन विशेष: यूसुफ खान से बड़ा बॉलीवुड में कोई एक्टर नहीं बन सका!

जन्मदिन विशेष: यूसुफ खान से बड़ा बॉलीवुड में कोई एक्टर नहीं बन सका!

बॉलीवु़ड में अपने एक्टिंग से अपनी अलग पहचान बनाने वाले दिलीप कुमार 11 दिसंबर को 97 साल के हो जाएंगे। दिलीप कुमार का जन्म 11 दिसंबर 1922 को पाकिस्तान के पेशावर में हुआ था। उनका असली नाम मोहम्मद यूसुफ खान है।


हरिभूमी पर छपी खबर के अनुसार, यूसुफ खान से बदलकर दिलीप कुमार एक्ट्रेस देविका रानी ने रखा। दिलीप के पिता का नाम लाला गुलाम सरवर था, उन्होंने फल बेचकर परिवार का गुजारा किया। दिलीप 12 बहन-भाई थे, इसलिए घर चलाने में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता था।

बंटवारे के वक्त पूरा परिवार मुंबई आ गया। मुंबई आने के बाद दिलीप ने पुणे के एक आर्मी क्लब में सैंडविच स्टॉल पर नौकरी करनी शुरू कर दी। दिलीप की पहली सैलरी 36 रुपए थी।

लेकिन जिंदगी में अपनी मेहनत के दम पर उन्होंने अपने आप को उस मुकाम पर पहुंचाया, जहां उनको किसी चीज की कमी नहीं है। दिलीप कुमार के पास 604 करोड़ 63 लाख से ज्यादा की संपत्ति है।

साल 1944 में दिलीप कुमार ने अपनी पहली फिल्म ‘ज्वार-भाटा’ में काम किया। ये फिल्म काफी सुपरहिट रही। इसके बाद उनकी अगसी फिल्म ‘जुगनू’ साल 1947 में रिलीज हुई। इसके बाद उनकी झोली तमाम बड़े प्रोजेक्ट्स से भर गई।
https://youtu.be/5vTH16nAXhY
उन्होंने अपने फिल्मी करियर में ‘जुगनू’, ‘शहीद’, ‘अंदाज’, ‘जोगन’, ‘दाग’, ‘आन’, ‘देवदास’, ‘नया दौर’ और ‘मुगल-ए-आजम’ जैसी सुपरहिट फिल्में की। अपने काम को लेकर दिलीप काफी गंभीर रहते थे। यही कारण था कि वो महज 25 साल की उम्र में देश के नंबर वन एक्टर बन गए।
https://youtu.be/Uj8XhODB4l0
दिलीप 8 फिल्म फेयर अवॉर्ड से नवाजे गए, इसके अलावा 19 बार फिल्मफेयर नॉमिनेशन में आए।

दिलीप कुमार को दादा फाल्के अवॉर्ड, पद्मभूषण अवॉर्ड और सर्वोच्च सम्मान भी मिल चुका है। इसके अलावा, उन्हें पाकिस्तान के सर्वोच्चा नागरिक सम्मान भी मिला। साल 1966 में उन्होंने सायरा बानो से शादी की।

उस वक्त दिलीप कुमार की उम्र 44 साल थी और सायरा बानो की उम्र 22 साल थी। 1980 में उन्होंने आसमा नाम की महिला से भी दूसरी शादी की थी, लेकिन ये शादी ज्यादा नहीं चली। उनकी और मधुबाला की लव स्टोरी भी काफी चर्चाओं में रही, लेकिन उनके रिश्ते के लिए घरवाले रजामंद नहीं हुए, जिसके चलते दोनों का रिश्ता बिना मुकाम हासिल किए खत्म हो गया।

दिलीप कुमार और मधुबाला का रिश्ता 1951 में फिल्म ‘तराना’ के सेट से शुरू हुआ था। दिलीप कुमार मधुबाला से शादी करना चाहते थे लेकिन मधुबाला के पिता अताउल्लाह खान को दिलीप कुमार जरा भी पसंद नहीं थे।

बताया जाता है कि बीआर चोपड़ी की फिल्म की शुटिंग के लिए मधुबाला और दिलीप कुमार को मध्यप्रदेश जाना था, लेकिन उनके पिता ने दिलीप कुमार के साथ जाने से इनकार कर दिया।
https://youtu.be/vxP8AUPBxtY
जिसके चलते मधुबाला ने भी शूटिंग करने से मना कर दिया। इस बात से नाराज बी आर चोपड़ा ने अग्रीमेंट को आधार बनाकर मधुबाला के खिलाफ कोर्ट केस कर दिया।

इस केस में दिलीप कुमार ने मधुबाला के खिलाफ बयान दे दिया। अगर आखिरी कुछ पल में बी आर चोपड़ा केस वापस नहीं लेते तो मधुबाला को दिलीप कुमार की बयान के आधार पर जेल जाना पड़ सकता था।

Top Stories