जन्मदिन विशेष: मुस्लिम गेंदबाज ने वर्ल्डकप दिलाने में निभाई अहम भूमिका!

जन्मदिन विशेष: मुस्लिम गेंदबाज ने वर्ल्डकप दिलाने में निभाई अहम भूमिका!

भारतीय क्रिकेट के यादगार गेंदबाजों में मुनाफ पटेल का नाम भी शुमार है। मुनाफ पटेल के लिए आज का दिन काफी खास और अहम है। आज ही के दिन साल 1983 में उनका जन्म गुजरात के इखर में हुआ था। वे भारत की 2011 वर्ल्डकप जीत के सबसे अहम गेंदबाज भी थे।

न्यूज़ ट्रैक पर छपी खबर के अनुसार, करीब 15 साल तक क्रिकेट खेलने के बाद मुनाफ पटेल क्रिकेट की दुनिया को अलविदा कह चुके हैं। साथ ही उन्होंने क्रिकेट को छोड़ने के समय कहा था कि उन्हें इसका कोई अफसोस नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि साथ खेलने वाले सभी खिलाड़ी रिटायर्ड हो चुके हैं और सिर्फ धोनी ही बचे हैं।

मुनाफ पटेल का करियर काफी मुश्किलों से भरा रहा है। एक समय ऐसा भी था, जब उन्हें दिहाड़ी के लिए 35 रु हर दिन मिलते थे, फिर इसी गेंदबाज ने साल 2011 में भारत को विश्व विजेता बनाने ने अहम रोल अदा किया था। उन्होंने खुद एक इंटरव्यू में कहा था कि उनके जीवन में इतना दुख था कि उनको झेलने की आदत हो गई थी।

पैसे ना होने की वजह से वह मजदूरी का काम करते थे। IPL में भी उनका जलवा देखने को मिला है। आईपीएल में पहले ‘गुजरात लायन्स’ और फिर ‘मुंबई इंडियन्स’ के लिए वे खेलने। ख़ास बात यह है कि साल 2011 के वर्ल्डकप में मुनाफ पटेल तीसरे सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे। उन्होंने कुल 11 विकेट हासिल किए थे।

Top Stories