BJP को टक्‍कर देने के लिए अब दिल्‍ली में केजरीवाल 13 को करेंगे ‘महारैली’

BJP को टक्‍कर देने के लिए अब दिल्‍ली में केजरीवाल 13 को करेंगे ‘महारैली’

लोकसभा चुनाव से पहले दिल्ली में सत्तारूढ़ आम आदमी पार्टी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नीत केंद्र सरकार के खिलाफ राष्ट्रीय राजधानी में 13 फरवरी को गैर भाजपाई नेताओं की एक महा रैली आयोजित कर रही है. पिछले दिनों कोलकाता में पश्‍च‍िम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने एक महारैली का आयोजन किया था. इस रैली में देश भर के विपक्षी नेता पहुंचे थे. अरविंद केजरीवाल के अलावा अखिलेश यादव, मल्‍ल‍िकार्जुन खड़गे, चंद्रबाबू नायडू समेत दूसरे बड़े नेताओं ने इसमें शिरकत की थी. उसी रैली की तर्ज पर अब केजरीवाल दिल्‍ली में रैली करने जा रहे हैं.

आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने रविवार कहा, ‘तानाशाही हटाओ, देश बचाओ‘ रैली 13 फरवरी को जंतर मंतर पर आयोजित की जाएगी. मोदी सरकार के खिलाफ सभी विपक्षी नेता इस रैली में शामिल होंगे.’ उन्होंने कहा कि इसमें वे सभी नेता शामिल होंगे जिन्होंने पिछले महीने कोलकाता में ममता बनर्जी की रैली में शिरकत की थी.

खैर, सूत्रों ने कहा कि कांग्रेस के रैली में भाग लेने की संभावना नहीं है. इस में ममता बनर्जी और चंद्रबाबू नायडू समेत अन्य विपक्षी नेता शिरकत कर सकते हैं. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में कुछ महीने ही शेष रह गए हैं, ऐसे समय में, यह रैली विपक्षी नेताओं को साथ लाने और भाजपा नीत राजग को चुनौती देने के लिए ‘महागठबंधन’ की स्थापना में मदद करेगी.

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने भी कोलकाता की रैली में शिरकत की थी, जहां उन्होंने मोदी सरकार को शिकस्त देने का आह्वान किया था.

 

कांग्रेस के बड़े नेता इसमें भी नहीं
ममता बनर्जी की रैली से भी कांग्रेस आलाकमान ने दूरी बनाई थी. इसमें बुलावा तो राहुल गांधी और सोनिया गांधी के पास गया था, लेकिन उन्‍होंने खुद शामिल न होते हुए मल्लिकार्जुन खड़गे को भेज दिया था. दिल्‍ली की रैली में तो संभवत: कांग्रेस को कोई भी लीडर शामिल नहीं होगा. क्‍योंकि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच गठबंधन पर कोई सहमति बनती नहीं दिख रही है. ऐसे में कांग्रेस खुद को इससे दूर ही रख सकती है.

Top Stories