Monday , December 18 2017

आठ नवंबर को ‘काला धन विरोध दिवस’ मनाएगी भाजपा: जेटली

नई दिल्ली। नोटबंदी के ऐलान के एक साल पूरा होने पर 8 नंबर को भारतीय जनता पार्टी देशभर में ‘काला धन विरोधी दिवस’ मनाएगी। वित्तमंत्री अरुण जेटली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इसकी जानकारी दी है।

उन्होंने कहा कि 8 नवंबर को पार्टी के सभी नेता और पदाधिकारी इस पर देशभर में कार्यक्रम करेंगे। जेटली ने कहा कि इसके लिए पार्टी नेताओं को जिम्मेदारी दी जाएगी, जिसकी लिस्ट जल्दी ही जारी की जाएगी। जेटली ने कहा कि 2014 में सत्ता में आने के बाद से ही भाजपा ने कालाधन और भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त रुख अपनाया है और नोटबंदी भी उसी के तहत उठाया गया एक कदम है।

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने एसआईटी की सिफारिशों को मानते हुए कालाधन को रोकने के लिए काम किया। उन्होंने कहा कि कालेधन के खिलाफ पार्टी के रुख को लोगों को बताते हुए उनकी आठ नवंबर को देशभर में ‘काला धन विरोधी दिवस’ मनाएगी

इससे पहले मंगलवार को कांग्रेस सांसद और राज्यसभा में विपक्ष के नेता गुलाम नबी आजाद ने नोटबंदी के ऐलान के एक साल पूरा होने पर आठ नवंबर को ‘काला दिवस’ के रूप मे मनाने का ऐलान किया। मंगलवार को मीडिया से बात करते हुए आजाद ने कहा कि पिछले साल पीएम मोदी का नोटबंदी का ऐलान ‘सदी का सबसे बड़ा घोटाला’ है। ऐसे में आठ नवंबर को सभी विपक्षी दल देश भर में विरोध-प्रदर्शन करेंगे।

गुलाम नबी आजाद ने कहा कि पिछले साल आठ नवंबर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 1000 और 500 रूपए के नोटों को बंद कर देने का ऐलान किया था। जो कि देश के लोगों पर एक बहुत बड़ा प्रहार था। नोटबंदी के कारण अर्थव्यवस्था की कमर टूट गई और बड़ी तादाद में नौकरियां चली गईं।

आजाद ने आठ नंवबर को काला दिवस मनाने का ऐलान तृणमूल कांग्रेस के नेता डेरेक ओब्रायन और जदयू के शरद यादव की मौजूदगी में किया। विपक्ष के इस ऐलान के जवाब में अब भाजपा ने इसे काला धन विरोधी दिवस के रूप में मनाने का ऐलान किया है।

आपको बता दें कि बीते साल आठ नवंबर की शाम पीएम मोदी ने 500 और 1000 के करेंसी नोटों को प्रचलन के बाहर कर देने का ऐलान किया था। इस फैसले के बाद काफी समय तक देश में लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा था। इस फैसले के चलते करीब 100 लोगों की जान चली गई थी।

TOPPOPULARRECENT