पहलु खान की हत्या वाली संसदीय क्षेत्र में कहीं नहीं जीती भाजपा

पहलु खान की हत्या वाली संसदीय क्षेत्र में कहीं नहीं जीती भाजपा

अलवर: सत्ता का सुख भोग रही भाजपा को राजस्थान उपचुनाव के नतीजे के बाद जबरदस्त झटका लगा है। इस नतीजे से ऐसा प्रतीत होता है कि महज कुछ महीने बाद ही राज्य में विधानसभा चुनाव को लेकर भाजपा को वोट मांगने के लिए जनता के दरबार में खड़ा होना पड़ेगा। बता दें कि ऐसा होने से पहले अलवर, अजमेर और मांडलगढ़ के नतीजों ने पार्टी को सोचने के लिए मजबूर कर दिया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

खबर के मुताबिक, बहरोड में जहां पहलू खान पर हमला हुआ था उस विधानसभा में इस उपचुनाव में भाजपा को सिर्फ 56 हजार 10 वोट मिले, जबकि कांग्रेस को 77 हजार 836 वोट हासिल हुए। जबकि 2014 के लोकसभा चुनाव में इस सीट पर भाजपा को 74 हजार 919 वोट मिले थे, जबकि कांग्रेस को मात्र 45 हजार 313 वोट हासिल कर पाई थी।

इस उपचुनाव में अलवर के बहरोड़ के अलावा दूसरी विधानसभाओं जैसे किशनगढ़ बास, रामगढ़, तिजारा, अलवर शहर, अलवर ग्रामीण, मुंडावर, राजगढ़, लक्ष्मणगढ़ में भी मतदाता बीजेपी से नाराज दिखे, इन सभी सीटों पर बीजेपी कांग्रेस से पीछे रही।

बता दें कि अलवर के बहरोड़ में ही 1 अप्रैल 2017 को कथित गौरक्षकों ने हरियाणा के नूह के पशु व्यापारी पहलू खान की पीट-पीटकर हत्या कर दी थी। इस उपचुनाव में बीजेपी बहरोड़ में तो हारी ही बाकी सात विधानसभा क्षेत्र में भी पार्टी कांग्रेस से अच्छे खासे अंतर से पीछे रही।

Top Stories