बीजेपी अजान पर राजनीति करने के बजाए बेरोजगारी और जीडीपी पर ध्यान दे- संजय राउत

, , ,

   

शिवसेना के एक नेता द्वारा मुस्लिम बच्चों के लिए ‘अजान’ देने की प्रतियोगिता आयोजित करने के सुझाव को लेकर महाराष्ट्र में सियासत गरमा गई है।

अमर उजाला पर छपी खबर के अनुसार, भाजपा ने शिवसेना पर आरोप लगाया है कि पार्टी सत्ता में बने रहने के लिए ‘हिंदुत्व’ की विचारधारा को नकार रही है।

वहीं, इस मामले पर शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सदस्य संजय राउत ने कहा, ‘शिवसेना ने हिंदुत्व छोड़ दिया है, ये बात कहने वालों को तमाशा बंद करना चाहिए और बेरोजगारी और जीडीपी के मुद्दे पर बात करनी चाहिए।’

शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा, ‘महाराष्ट्र भाजपा के नेता ‘अजान’ को लेकर राजनीति कर रहे हैं। यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि कोरोना के दौरान धार्मिक स्थलों पर भीड़भाड़ नहीं होनी चाहिए।

शिवसेना के हिंदुत्व छोड़ने की बात कहने वालों को यह ‘तमाशा’ बंद करना चाहिए। उन्हें बेरोजगारी, जीडीपी आदि के बारे में बात करनी चाहिए।’

भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को शिवसेना पर पार्टी के संस्थापक बाल ठाकरे की हिंदुत्व की विचारधारा को ‘नकारने’ का आरोप लगाया और कहा कि शिवसेना ‘वोट बैंक की राजनीति’ कर रही है।

महाराष्ट्र विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष फडणवीस ने नागपुर में संवाददाताओं से कहा कि शिवसेना ‘छद्म धर्मनिरपेक्ष’ बन गई है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और पार्टी के सांसद संजय राउत को इस मुद्दे पर बोलना चाहिए।

फडणवीस ने कहा, ‘यह हिंदू हृदय सम्राट बाला साहेब ठाकरे की शिवसेना नहीं है। वह इस मुद्दे पर हमेशा लड़े और शिवेसना बाला साहेब के ‘सामना’ (पार्टी का मुखपत्र) में लिखे उनके लेख एवं बयानों से बिल्कुल उलट कार्य कर रही है।’

एक सवाल पर उन्होंने कहा, ‘हमनें मुसलमानों को कभी वोट बैंक की तरह नहीं लिया और हम तुष्टिकरण की नीति नहीं चाहते। मुसलमान भी सबका साथ, सबका विकास का हिस्सा हैं।’