बुलंदशहर: मुख्य आरोपी योगेश के समर्थन में उतरे भाजपा सांसद, कहा-अच्छा काम कर रहा था

बुलंदशहर: मुख्य आरोपी योगेश के समर्थन में उतरे भाजपा सांसद, कहा-अच्छा काम कर रहा था

बुलंदशहर हिंसा के मुख्य आरोपी योगेश राज सिंह के बचाव में स्थानीय बीजेपी सांसद भी उतर आए हैं। दरअसल, गोवंश के अवशेष मिलने की खबरों के बाद यहां हुई हिंसा के मामले में आरोपी योगेश फिलहाल पुलिस के शिंकजे से दूर है। योगेश ने एक वीडियो शेयर करके खुद को निर्दोष बताया है। साथ ही दावा किया है कि वह मौके पर मौजूद नहीं था। बता दें कि इस हिंसा में इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह और सुमित नाम के युवक की मौत हो गई थी। हालांकि, बुलंदशहर से सांसद भोलाराम का कहना है कि वह कोई भी निर्णायक कदम तब उठाएंगे जब घटना से जुड़े सभी तथ्य सामने आ जाएंगे।

सांसद ने कहा, ‘गोकशी के लिए कड़े कानून का समर्थन करना अपराध नहीं है। वह एक अच्छा काम कर रहे थे जो आंखें खोल देने वाला है। उन्होंने मेरा इस तरफ ध्यान दिलाया कि ऐसी एक घटना हुई है। बाकी यह मामला जांच का विषय है।’ उधर, विश्व हिंदू परिषद के महासचिव सुरेंद्र जैन और बजरंग दल के मेरठ डिविजन के प्रमुख बलराज डूंगर ने भी योगेश राज का समर्थन किया। पीटीआई की रिपोर्ट के मुताबिक, पश्चिमी यूपी के बजरंग दल के सह संयोजक प्रवीण भाटी ने कहा कि योगेशराज को सरेंडर कर देना चाहिए। हालांकि, भाटी ने यह भी मांग की, ‘जांच किसी बड़ी एजेंसी द्वारा किया जाना चाहिए। मुझे लगता है कि सीबीआई को जांच करनी चाहिए।’

बता दें कि योगेश राज का दावा और उनकी ओर से की गई शिकायत के आधार पर दर्ज की गई एफआईआर में विरोधाभास है। योगेशराज का कहना है कि वह उस वक्त मौजूद नहीं थे, जब गोवंश के अवशेष मिले। हालांकि, एफआईआर के मुताबिक, योगेश ने 7 लोगों को गोकशी करते देखा था। एफआईआर के मुताबिक, गोवंश की हत्या देखने के बाद योगेश ने शोर मचाया, जिसके बाद आरोपी मौके से फरार हो गए। एफआईआर में यह कहा गया है कि इस घटना की वजह से हिंदू भावनाएं आहत हुईं।

वहीं, अपने वीडियो में योगेश दावा कर रहे हैं कि वह मामले को शांति से सुलझाना चाहते थे। उन्हें जब गोकशी के घटना के बारे में पता चला तो वह तुंरत बाकी लोगों के साथ घटनास्थल पर पहुंचे थे। उन्होंने पाया कि प्रशासन वहां मौजूद है, जिसके बाद वह शिकायत दर्ज कराने स्याना पुलिस स्टेशन गए। योगेश का दावा है कि जब वह थाने में थे तब उन्हें पथराव और फायरिंग में एक शख्स और पुलिसवाले को गोली लगने के बारे में पता चला।

साभार- जनसत्ता

Top Stories