Thursday , February 22 2018

मुजफ्फरनगर दंगा: योगी से मिले बीजेपी सांसद संजीव बालियान, कहा- केस खत्म कीजिए

बीजेपी सांसद संजीव बालियान खाप पंचायतों के मुखिया लोगों को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के पास पहुंचे और मुजफ्फरनगर में दंगों के बाद दर्ज कराए गए आगजनी के मुकदमे वापस लेने की गुहार लगाई। उनका कहना था कि आगजनी के ज्यादातर मुकदमे फर्जी दर्ज कराए गए थे।
मुख्यमंत्री से मुलाकात के लिए उनके कार्यालय शास्त्री भवन जाने से पहले वीवीआईपी गेस्ट हाउस में उन्होंने कहा कि वर्ष 2013 में मुजफ्फरनगर में हुए दंगों में मुख्य रूप से तीन तरह के मुकदमे दर्ज हुए थे। इसमें हत्या व आगजनी के अलावा गिरफ्तारी के दौरान पुलिस की ओर से दर्ज कराए गए मुकदमे शामिल हैं। दंगों में कुल 510 मुकदमे दर्ज कराए गए थे, जिसमें 6869 लोग नामजद किए गए थे। इसमें ज्यादातर लोग एक ही संप्रदाय के हैं। यहां तक कि नामजद लोगों में 17 मृतकों के नाम भी शामिल कर दिए गए थे। उन्होंने बताया कि इन मुकदमों में 402 आगजनी के हैं, जिसमें से ज्यादातर फर्जी हैं।
मुआवजे के लिए लोगों ने खुद ही अपने घर के कुछ सामान जला डाले थे। वह मुख्यमंत्री से मांग करेंगे कि प्रदेश सरकार या तो मुकदमे वापस ले या फिर एसआईटी गठित कर उनकी नए सिरे से जांच कराए।
उन्होंने बताया कि वह हत्या के मुकदमों की कोई बात नहीं करने जा रहे हैं क्योंकि उनमें चार्जशीट लग चुकी है और सभी मामले कोर्ट में विचाराधीन हैं। मुख्यमंत्री ने उन 9 मुकदमों को भी वापस लेने की मांग की जाएगी जिनमें 250 लोग नामजद हैं। इसमें से 100 महिलाएं शामिल हैं। ये वे मुकदमे हैं जो पुलिस ने मुकदमों के अभियुक्तों की गिरफ्तारी के दौरान दर्ज कराए थे। पुलिस का कहना था कि अभियुक्तों की गिरफ्तारी करने पर उसके साथ दुर्व्यवहार किया गया। इस आरोप में महिलाओं को भी नामजद किया गया। इसमें वोटर लिस्ट देखकर नाम जोड़े गए हैं।
केंद्रीय मंत्री के साथ मुजफ्फरनगर की बालियान खाप पंचायत के मुखिया नरेश टिकैत, अहलावत खाप पंचायत के मुखिया गजेन्द्र सिंह, गड़वाला खाप पंचायत के मुखिया राजेन्द्र सिंह व पूर्व ब्लॉक प्रमुख वीरेन्द्र सिंह भी मुख्यमंत्री से मिले।

TOPPOPULARRECENT