भाजपा किसानों की नहीं, उद्योगपतियों की सरकार है: अन्ना हजारे

भाजपा किसानों की नहीं, उद्योगपतियों की सरकार है: अन्ना हजारे
Click for full image

नई दिल्ली: देश में किसानों की स्थिति को लेकर समाजसेवी अन्ना हजारे ने सरकार पर जबरदस्त हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि भाजपा सरकार किसान की नहीं बल्कि अंबानी, अडानी जैसे उद्योगपतियों की है और सिर्फ उन्हीं के बारे में सोचती भी है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

अन्ना हजारे यहां एक आमसभा को संबोधित करते हुए कहा कि आज की पीएम मोदी की भाजपा सरकार किसान के बारे में नहीं बल्कि अंबानी-अडानी जैसे उद्योगपतियों के बारे में सोचती है। संबोधन के दौरान उन्होंने बताया कि मैंने देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कई बार पत्र लिखा है जिसमें साफ कहा गया है कि किसान को उसकी फसल का दाम नहीं मिलने के लिए सरकार सीधे जिम्मेदार है, और इसके चलते देश में 70 साल के अंदर 12 लाख किसानों ने आत्महत्या की है।

हजारे ने आगे कहा कि नरेंद्र मोदी जी ने सत्ता में आने के बाद लोकपाल विधेयक लागू करने की बात कही थी। साथ ही उसने भ्रष्टाचार मुक्त भारत की कल्पना को साकार रुप देने को कहा था। लेकिन इसके लिए सिर्फ प्रचार प्रसार किया जा रहा है और हो कुछ नहीं रहा है।

इस मामले को गंभीरता से लेते हुए अन्ना हजारे ने जनता का आह्वान किया कि 23 मार्च को दिल्ली के रामलीला मैदान में वृहद आंदोलन किया जाएगा जिसमें देश भर के लोग शामिल होंगे।

उन्होंने चेतावनी भी दी है कि उसने जब-जब सरकारों के खिलाफ आंदोलन किया है। तब उन्हें जेल में डाल दिया गया। लेकिन बावजूद इसके सरकार गिर गई।

Top Stories