Sunday , December 17 2017

फसल की वाजिब कीमत की जगह बीजेपी किसानों को गोलियां दे रही है: सीताराम येचुरी

नई दिल्ली: माकपा के महासचिव सीताराम येचुरी ने केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार पर आरोप लगाया है कि उन्होंने खेतीबाड़ी को नुक्सान वाला व्यवसाय और किसानों की वाजिब शिकायतों का जवाब गोलियों से देना शुरू कर दिया है।

जिस खेतीवाड़ी से पूरा देश खाना खाता है। किसानों को अन्नदाता कहा जाता था। आज किसान की हालत ये है कि खेतीवाड़ी का व्यवसाय करने से पहले हजार बार सोचता है। किसानों की बदहाली इस कगार पर आ गई है।

मध्यप्रदेश में किसान आंदोलन को लेकर येचुरी ने शनिवार को फेसबुक पर एक पोस्ट में लिखा।

जिसमें उन्होंने कहा ‘जरूरी बात यह है कि हम किसानों को उनके श्रम और उत्पाद की पर्याप्त कीमत नहीं दे रहे। बीजेपी इसके स्थान पर उनकी शिकायतों का जवाब गोलियों से दे रही है।’

मध्यप्रदेश में किसान कर्ज माफी और फसल की वाजिब कीमत की मांग को लेकर आंदोलन कर रहे हैं। इस दौरान पुलिस की गोलीबारी में ६ किसानों की मौत हो चुकी है।

फेसबुक पोस्ट के अनुसार, ‘न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) कम है और मोदी सरकार ने राज्य स्तरीय बोनस बंद कर दिया है। बाजार मूल्य से कम एमएसपी के कारण खेतीबाड़ी एक घाटे वाला पेशा बन गया है।’
येचुरी ने साथ ही कहा कि किसानों की कर्ज माफी एक अस्थायी उपाय है और केंद्र सरकार को एमएसपी बढ़ाना चाहिए और साथ ही राज्यों को बोनस की घोषणा करने की अनुमति देनी चाहिए। साथ ही सरकार को कृषि उत्पादों की खरीद करनी चाहिए।

पोस्ट के अनुसार, ‘किसान जब उत्पादन बढ़ा रहे हैं, ऐसे में व्यापारियों के लिए कीमत कम रखने के लिए सस्ते आयात की अनुमति देना सरकार का किसान विरोधी कदम है।’

TOPPOPULARRECENT