मोब लिंचिंग पर 49 हस्तियों के पत्र को भाजपा के बड़े नेता का समर्थन, मचा हड़कंप !

मोब लिंचिंग पर 49 हस्तियों के पत्र को भाजपा के बड़े नेता का समर्थन, मचा हड़कंप !
 साल 2014 में नरेंद्र मोदी सरकार के सत्ता पर काबिज़ होने के बाद से अल्पसंख्यक और दलित समुदायों के खिलाफ बढ़ी मॉब लिंचिंग की घटनाओं के मद्देनज़र देश की कई नामचीन हस्तियों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा है. इस पत्र को कला, फिल्म, शिक्षा और सामाजिक कार्यकर्ताओं समेत कई क्षेत्रों के 49 लोगों ने मिलकर पीएम मोदी को भेजा है
वहीँ इस पत्र के आने के बाद सबसे चौकाने वाली बात ये सामने आई है की इस पत्र का बीजेपी के लोग विरोध कर रहे हैं तो वहीँ भाजपा के पश्चिम बंगाल उपाध्यक्ष और नेताजी सुभाष चंद्र बोस के प्रपौत्र चंद्र कुमार बोस ने शुक्रवार को इसका  समर्थन कर हड़कंप मचा दिया है ।
उन्होंने इस विषय पर विभिन्न क्षेत्रों की 61 शख्सियतों के जवाबी बयान को एक मजाक बताते हुए कहा कि यह इस विषय की गंभीरता को कमतर करेगा।

बोस ने कहा, ‘भीड़ हत्या के सिलसिले में शख्सियतों की चिंताओं का मैं समर्थन करता हूं। मैं आश्वस्त हूं कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए सुधारात्मक कदम उठाएंगे। लेकिन मैं कहना चाहूंगा कि भीड़ हत्या और धर्म को आपस में नहीं जोड़ा जाना चाहिए।’ उन्होंने कहा, ‘जिस किसी ने भी पत्र लिखा है या उस पर हस्ताक्षर किए हैं उनसे मेरा कोई वास्ता नहीं है। मैं बस पत्र की विषय वस्तु का समर्थन कर रहा हूं।’

उन्होंने कहा, ‘भीड़ हत्या और हत्या समान हैं। आरोपी के दोषी पाए जाने पर कानून के तहत कठोर सजा दी जानी चाहिए। भीड़ हत्या में संलिप्त यदि कोई व्यक्ति अपराधी है तो उसे जवाबदेह ठहराया जाना चाहिए, चाहे उसकी पृष्ठभूमि कुछ भी हो।’

Top Stories