तमि‍लनाडु: मुसलमानों ने “ब्लड मनी” की व्यवस्था कर बचाई अर्जुनन की जान

तमि‍लनाडु: मुसलमानों ने “ब्लड मनी” की व्यवस्था कर बचाई अर्जुनन की जान
Click for full image

मलप्पुरम: पूर्व भारतीय संघ मुस्लिम लीग के अध्यक्ष सैयद मोहम्मदली शिहाब थांगल के छोटे बेटे सैयद मुनववारली शिहाब  ने ‘ब्लड मनी’ की व्यवस्था करने में मदद करके दो परिवारों को बचाया।

खबरों के मुताबिक 45 साल के तमिलनाडु के तंजावुर जिले के एक निर्माण कार्यकर्ता अर्जुनन अथिमुथु को केरल के मलप्पुरम जिले के मजदूर अब्दुल वाजिद को मारने का दोषी पाया गया, ये दोनों कुवैत  साथ में काम कर रहे थे। यह घटना सितंबर 2013 में हुई थी।

अर्जुनान को कुवैत में मौत की सजा सुनाई गई थी और कुवैती कानून के अनुसार, अपराधी को मौत की सज़ा से छुटकारा तभी मिल सकता है अगर पीड़िता के परिवार अपराधी को माफ़ कर दे।

अब्दुल माजिद के परिवार ने माफ करने के लिए तैयार हो गये लेकिन उन्हों ने ‘ब्लड मनी’ के तोर पर अपराधी के परिवार से ३० लाख रूपये मांगे। बता दे की दोनों परिवार की आर्थिक अच्छी नहीं है

मालती, अर्जुनान की पत्नी अपने पति को बचाने के लिए 30 लाख रूपये जुटाने में असमर्थ थीं। फिर उसने मदप्पानक्कल के सैयद शिहाब के परिवार के से मदद के लिए संपर्क किया। सईद मुनववारली शिहाब तुरंत मदद के लिये आगे आये और ३० लाख रुपये इकट्ठा कर उस की जान बचाई

 

Top Stories