Sunday , April 22 2018

‘केजरीवाल को नहीं बुलाना दिल्ली की जनता का अपमान’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार (25 दिसंबर) को दिल्ली मेट्रो की आठवीं मैजेंटा लाइन का उद्घाटन किया और बॉटेनिकल गार्डेन से कालिंदी कुंज तक मेट्रो में सफर किया। इसके साथ ही नोएडा के बॉटेनिकल गार्डेन से दिल्ली के कालकाजी मंदिर तक कुल 12.6 किलोमीटर लंबे मेट्रो रूट पर मेट्रो का परिचालन आमजनों के लिए शुरू हो गया। उद्घाटन समारोह में यूपी के गवर्नर राम नाईक के साथ-साथ मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी मौजूद थे। इधर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को उद्घाटन समारोह में नहीं बुलाने पर दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे दिल्ली की जनता का अपमान बताया है। सिसोदिया ने सोशल मीडिया पर लिखा है, “दिल्ली के मुख्यमंत्री को दिल्ली मेट्रो के उद्घाटन में ना बुलाना दिल्ली का जनता का अपमान है। ना बुलाने की केवल एक ही वजह है – इन्हें डर था कि कहीं केजरीवाल प्रधानमंत्री जी से जनता के लिए मेट्रो किराए कम करने की मांग ना कर दें।”

सिसोदिया की इस टिप्पणी पर यूजर्स ने उन्हें ट्रोल किया है और तरह-तरह की प्रतिक्रियाएं दी हैं। एक यूजर ने लिखा है, “किराया कम करने की औकात नहीं है केजरीवाल की कार्यक्रम उत्तर प्रदेश का था दिल्ली के मुख्यमंत्री का क्या काम? और दिल्ली की जनता को वोटिंग अधिकार वापस कर देना चाहिए ऐसी सरकार चुनने के पाप का प्रायश्चित करने के लिए। मनीष जी आप तो समझदार थे। क्यों इस पागल के जाल में आ गये?”  एक अन्य यूजर ने लिखा, “वैसे किराये का रोना बार बार न रोये..आप लोगो की जानकारी में सब हुआ था तब कुछ नही बोले बाद में ड्रामा किया..केन्द्र की तरफ से आपको प्रस्ताव रखा तो गया था स्वीकार क्यों नही किया जिम्मेदारी भी नही लेना चाहते और वाहवाही भी लूटना चाहते है।” इसी तरह से कुछ लोगों ने केजरीवाल के समर्थन में भी कमेंट किया है।

TOPPOPULARRECENT