Saturday , December 16 2017

बोसनिया नरसंहार में हजारों मुसलमानों का क़ातिल ‘रातको म्लादिक’ को आजीवन कारावास की सजा

संयुक्त राष्ट्र अदालत ने बोसनिया सर्ब के पूर्व सैन्य प्रमुख रातको म्लादिक  को नरसंहार और मानवता के खिलाफ अपराधों का  दोषी ठहराया  और बोसनिया के 1 99 1-199 5 के युद्ध के दौरान किए गए अत्याचारों के लिए उन्हें आजीवन कारावास की सज़ा सुनते हुए जेल भेज दिया।

बुधवार को इंटरनेशनल क्रिमिनल ट्रिब्यूनल फॉर फॉर्मर यूगोस्लाविया  (आईसीटीवाई) के न्यायाधीश ने  74 वर्षीय पूर्व सैन्य प्रमुख रातको म्लादिक बोसनिया में किए गए नरसंहार के लिए दोषी पाया

नीदरलैंड के ट्रिब्यूनल ने अपने पिछले फैसले में  सेरेब्रेनिका में लगभग 8,000 मुस्लिम पुरुष, महिलाएं और लड़कों के नरसंहार के लिए दोषी पाया था।

न्यायाधीश अल्फोंस ओरी ने फैसला सुनाया कि सेरेब्रेनिका में किए गए अपराधों के अपराधियों ने वहां रहने वाले मुसलमानों को नष्ट करने का इरादा किया था।

न्यायाधीश ने यह भी कहा कि रातको म्लादिक ने साराजेवो पर व्यक्तिगत रूप से गोलीबारी चलाने का आदेश दिया था

उन्होंने कहा, ” कहा कि ये अपराध मानव जाती पर किये गए सब से घृणित अपराधों में से एक है”।

 

TOPPOPULARRECENT