Monday , September 24 2018

BSF शोरिश पसंदो के कैंपस तबाह करने का खांहा

अगरतला, १६ नवंबर ( पीटीआई) बॉर्डर सिक्योरिटी फ़ोर्स (BSF) ने अपने बंगला देशी हम मंसब बॉर्डर गार्ड बंगला देश (BGB) से दरख़ास्त की है कि वो मुल्क से शुमाली मशरिक़ी शोरिश पसंदों के 55 कैंपस को फ़ौरी तौर पर तबाह कर दे । बी एस एफ़ के एक ओहदेदार ने अख़

अगरतला, १६ नवंबर ( पीटीआई) बॉर्डर सिक्योरिटी फ़ोर्स (BSF) ने अपने बंगला देशी हम मंसब बॉर्डर गार्ड बंगला देश (BGB) से दरख़ास्त की है कि वो मुल्क से शुमाली मशरिक़ी शोरिश पसंदों के 55 कैंपस को फ़ौरी तौर पर तबाह कर दे । बी एस एफ़ के एक ओहदेदार ने अख़बारी नुमाइंदों से बात करते हुए कहा कि इस ख़ित्ता में शोरिश पसंदों के कैंपस को तबाह करने के लिए बंगला देश के इंतिहाई फ़आल रोल के बावजूद 55 कैंपस हनूज़ ( अभी तक) मौजूद हैं जिन की सरगर्मीयां मुस्तक़िल सिरदर्द बनी हुई हैं ।

बी एस एफ़ ओहदेदारों ने इन कैंपस की फ़हरिस्त उन के हवाले की है और दरख़ास्त की है कि तमाम कैंपस को फ़ौरी तौर पर तबाह कर दिया जाए । याद रहे कि सेलहट में इंसपेक्टर जनरल सतह के बॉर्डर मैनेजमेंट और को आर्डीनेशन का एक इजलास मुनाक़िद किया गया था जहां फ़हरिस्त की हवालगी अमल में आई ।

मेघालय आसाम त्रिपुरा और मीज़ोरम के इंसपेक्टर जनर्लस और बी एस एफ़ ओहदेदारों ने इजलास में शिरकत की थी जबकि इजलास में बंगला देश की नुमाइंदगी BGB के ब्रीगेडीयर जनरल ने की । इजलास का इनइक़ाद दोस्ताना माहौल में मुनाक़िद किया गया था जहां कई मौज़ूआत जैसे बेहतर बॉर्डर मैनेजमेंट स्मगलिंग की रोक थाम और सरहदी जराइम जैसे मवेशीयों का सरका ( चोरी) और डकैती वग़ैरा ज़ेर-ए-बहस आए ।

यहां इस बात का तज़किरा भी ज़रूरी है कि इस अहम इजलास में बी एस एफ़ ने दीगर तनाज़आत ( विवाद / झगड़े) की भी आजलाना यकसूई की दरख़ास्त की जैसे बैन-उल-अक़वामी सरहद पर ख़ारदार तारों की बाढ़ लगाना वग़ैरा क्योंकि सरहद पर कोई रुकावट ना होने की वजह से बंगला देशी शोरिश पसंद गै़रक़ानूनी तौर पर हिंदूस्तानी सरहद में दरअंदाज़ी करते हैं ।

त्रिपुरा मेघालय मीज़ोरम और आसाम पड़ोसी मुल्क बंगला देश के साथ 1880 किलोमीटर तवील सरहदी इलाक़ा के शराकतदार हैं ।

TOPPOPULARRECENT