CAA मुस्लिम विरोधी नहीं, लेकिन प्रदर्शन हिन्दू विरोधी जरुर है- तेजस्वी सूर्या

CAA मुस्लिम विरोधी नहीं, लेकिन प्रदर्शन हिन्दू विरोधी जरुर है- तेजस्वी सूर्या

दिल्ली समेत देश के विभिन्न शहरों में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में हुई हिंसा पर लोकसभा में भाजपा सांसद तेजस्वी सूर्या ने बड़ा बयान दिया।

 

न्यूज़ ट्रैक पर छपी खबर के अनुसार, उन्होंने कहा कि बीते दो महीनों में देश के कई शहरों में चरमपंथी नारों की गूंज सुनाई दी है, जिसमें ‘जिन्ना वाली आजादी’, ‘हिंदुओं से आजादी’, ‘काफ़िरों की आजादी’ मुख्य नारे है।

 

स्पष्ट शब्दों में तेजस्वी सूर्या ने कहा कि “CAA तो मुस्लिम विरोधी नहीं है, पर ये प्रदर्शन निस्संदेह हिन्दू विरोधी थे।

 

CAA विरोध प्रदर्शन के नाम पर जिस प्रकार अफवाहें फैलाई गयीं उस पर प्रकाश डालते हुए तेजस्वी सूर्या ने कहा कि ये वही लोग हैं, जिनके लिए भारत तेरे टुकड़े होंगे के नारे लगाने वाले पुलिस की बेरहमी से पीड़ित हैं, और कई बुद्धिजीवी तो इन देशद्रोहियों को ‘शीरोज’ तक बुलाने लगे।

 

उन्होंने कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि काँग्रेस riot engineering में विशेषज्ञ बन चुकी है। उल्लेखनीय है कि CAA जब संवैधानिक रूप से पारित हुआ तो कांग्रेस पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गाँधी ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि ये आर और पार की लड़ाई है और आप सभी लोग इसके खिलाफ लड़े। इसके अगले ही दिन शाहीन बाग में प्रदर्शन आरंभ हो गए थे।

 

इसी कड़ी में तेजस्वी सूर्या ने आगे बताया कि इन CAA विरोधी प्रदर्शनों का एकमात्र मकसद भारत की छवि को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बिगाड़ना था।

 

तेजस्वी सूर्या के इस बयान से विपक्ष की बोलती बंद हो गर्द थी। हालांकि ये पहली दफा नहीं है जब तेजस्वी सूर्या ने अपने भाषणों से विपक्ष को चुप करा दिया हो।

Top Stories