एयरफोर्स पाकिस्तान के न्यूक्लियर ठिकानों को तबाह करने में सक्षम है- वायुसेना प्रमुख

एयरफोर्स पाकिस्तान के न्यूक्लियर ठिकानों को तबाह करने में सक्षम है- वायुसेना प्रमुख
Click for full image
जनसत्ता फोटो

वायुसेना प्रमुख बी एस धनोवा ने आज कहा कि भारतीय वायु सेना चीन का मुकाबला करने में सक्षम है और दो मोर्चों पर युद्ध की स्थित का सामना करने के लिये तैयार है।

वायुसेना दिवस की पूर्व संध्या पर एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुये एयर चीफ मार्शल ने कहा कि उनका बल पूर्ण विस्तार वाले अभियान के लिये तैयार है हालांकि उन्होंने साफ किया कि वायुसेना को शामिल करते हुये सर्जिकल स्ट्राइक पर कोई भी फैसला सरकार को लेना है।

उन्होंने कहा, ‘‘हम किसी भी चुनौती का मुकाबला करने के लिये तैयार हैं।’’ एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि वायुसेना दो मोर्चों पर युद्ध की चुनौती के लिये तैयार है।

सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने पिछले महीने कहा था कि देश को दो मोर्चों पर युद्ध के लिये तैयार रहना चाहिये। उन्होंने जोर देकर कहा कि चीन ने ‘‘अपनी ताकत का प्रदर्शन’’ शुरू कर दिया है जबकि पाकिस्तान की तरफ से भी शांति की कोई गुंजाइश नहीं है जिसका सैन्य और राजनीतिक नेतृत्व भारत में एक विरोधी को देखता है।

वायु सेना प्रमुख ने यह भी कहा कि वायुसेना 2032 तक अपनी 42 फाइटर स्क्वाड्रन की क्षमता हासिल कर लेगी।

Top Stories