Wednesday , December 13 2017

कनाडा विश्वविद्यालय ने तारिक फतह की कार्यक्रम की अनुमति वापस ली

हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक पाकिस्तान में जन्मे कनाडाई लेखक तारिक फतह कनाडा इंडिया फाउंडेशन (सीआईएफ) स्पीकर सीरीज़ के भाग के रूप में टोरंटो में रीयरसन यूनिवर्सिटी में एक प्रमुख प्रवक्ता के रूप में भाषण देने वाले थें।

हालांकि, सीआईएफ को हाल ही में विश्वविद्यालय द्वारा स्पष्ट किया गया था कि इस आयोजन के लिए जगह अब उपलब्ध नहीं किया है।

इस बारे में सीआईएफ के कार्यकारी निदेशक विपुल जानी ने कहा, “यह एक प्रसिद्ध कनाडाई जनसभा के बारे में है। अगर हमें इस तरह के भाषण को व्यवस्थित करने की इजाजत नहीं है, तो वह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता या कनाडा के कैंपस के वातावरण के लिए बहुत अच्छी बात नहीं है। यहाँ के लोगों को भाषण और मुक्त बहस को प्रोत्साहित करना चाहिए।”

टोरंटो सन ने विश्वविद्यालय के प्रवक्ता जोहन्ना वेंडरमास का हवाला देते हुए कहा, “दुर्भाग्य से, 10 अगस्त के लिए कनाडा-इंडिया फाउंडेशन के कमरे बुकिंग अनुरोध को समायोजित करने में असमर्थ हैं। हमने श्री जानी और सीआईएफ से हमने खेद व्यक्त किया है।

वो बताते हैं कि विश्वविद्यालय को इस योजना के बारे में कोई जानकारी नहीं थी कि श्री फतह मुख्य भाषण के रूप में प्रयोजित करने वाले थें।”

तारिक फतह को मुस्लिमों और इस्लाम के खिलाफ आरएसएस और अन्य इस्लामफ़ोबी संगठनों के लिए के लिए एक पोस्टर मैन के तौर पर माना जाता है। क्यूंकि फतह हमेशा ही इस्लाम के खिलाफ घृणात्मक भाषण देतें आएं हैं।

TOPPOPULARRECENT