Friday , July 20 2018

केरल में लाखो छात्रों ने एडमिशन फॉर्म में खाली छोड़ा धर्म-जा‍ति का कॉलम

केरल में बच्चों द्वारा स्कुल फॉर्म में जाती और धर्म का कालम न भरना चर्चा में है करीब।  मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक लाखो छात्रों ने एडमिशन फॉर्म में जाति और धर्म के कॉलम को खाली छोड़ दिया है। सरकार ने आधिकारिक तौर पर इस बात का ऐलान किया है। इससे पहले भी केरल में स्कूल के बच्चों द्वारा जाति और धर्म के कॉलम को खाली छोड़ा जा चुका है, लेकिन समय के साथ ऐसे बच्चों की संख्या बढ़ रही है जो अपनी जाति और धर्म को पढ़ाई के बीच में नहीं लाना चाहते हैं। केरल विधानसभा के चालू सत्र में बुधवार को इस मामले पर प्रश्नकाल के दौरान चर्चा हुई। वमनपुरम से सीपीएम विधायक डीके मुरली ने दाखिले के वक्त जाति और धर्म के कॉलम को खाली छोड़ने वाले स्कूली छात्रों की संख्या को लेकर सवाल किया।

जवाब में राज्य के शिक्षा मंत्री सी रवींद्रनाथ ने बताया कि करीब 1.24 लाख बच्चों ने इस साल एडमिशन फॉर्म में जाति और धर्म के कॉलम को खाली छोड़ा है। उन्होंने बताया कि ऐसा करने वाले 1,23,630 बच्चे पहली कक्षा से लेकर दसवीं कक्षा के छात्र हैं तो वहीं ग्यारवीं के 278 बच्चों ने यह कॉलम खाली छोड़ा है। वहीं ऐसा करने वाले 239 छात्र 12वीं कक्षा में पढ़ते हैं। आपको बता दें कि ये आंकड़े 2017-18 के शैक्षणिक सत्र के हैं। फिलहाल जिलों और क्षेत्रों के हिसाब से इन आंकड़ों का वर्गीकरण अभी मौजूद नहीं है, लेकिन राज्य के करीब 9000 स्कूलों से यह आंकड़े कलेक्ट किए गए हैं।

 

TOPPOPULARRECENT