CBI विवाद में कूदे सुब्रमण्यम स्वामी, मोदी सरकार के फैसले पर उठाए सवाल

CBI विवाद में कूदे सुब्रमण्यम स्वामी, मोदी सरकार के फैसले पर उठाए सवाल
Click for full image

सीबीआई में मचे घमासान को लेकर मोदी सरकार अपनों के ही निशाने पर आ गई है। कांग्रेेस के बाद भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी भी इस विवाद में कूद गए हैं। उन्होंने अपनी ही सरकार को सवालों के कटघरे में खड़ा कर दिया।

स्वामी ने ट्वीट कर कहा कि सीबीआई में जारी अफसरों को हटाने के खेल में ईडी के राजेश्वर को निलंबित करने की योजना भी बन रही है ताकि वो चिदंबरम के खिलाफ चार्जशीट फाइल ना कर सकें। उन्होंने लिखा कि अगर मेरी सरकार ही उन्हें बचाने की कोशिश करेगी तो मेरे पास भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने की कोई वजह नहीं बचेगी, तब मुझे उन सभी भ्रष्टाचार के मामलों को वापस लेना होगा जो मैंने फाइल किए हैं।

वही इससे पहले भाजपा नेता ने सीबीआई डायरेक्टर आलोक वर्मा को क्लीन चिट दे दी थी। उन्होंने कहा कि मैं अपने अनुभव के आधार पर कह सकता हूं कि वर्मा निर्दोष हैं, वह अफसर हैं उन्हें हटाने के पीछे क्या वजह है, ये मुझे नहीं पता।

बता दें कि राकेश अस्थाना के नेतृत्व में एक विशेष जांच दल गठित हुई थी, जो मांस निर्यातक मोइन क़ुरैशी केस की जांच कर रही थी। आरोप है कि इसकी जांच में क़ुरैशी को बरी करने के लिए अस्थाना ने रिश्वत ली।

दूसरी तरफ़ अस्थाना का आरोप है कि आलोक वर्मा ने इसकी जांच रोकवा दी। सीबीआई ने राकेश अस्थाना के नेतृत्व वाली एसआईटी में शामिल जांच अधिकारी देवेंद्र कुमार को गिरफ़्तार कर चुकी है।

Top Stories