नजीब के लिए इंसाफ की आवाज़ उठाने वालों पर सीबीआई का शिंकजा

नजीब के लिए इंसाफ की आवाज़ उठाने वालों पर सीबीआई का शिंकजा

नई दिल्ली: 2016 में अक्टूबर की 15 तारीख को जवाहर लाल नेहरु यूनिवर्सिटी कैंपस में मारपीट के एक घटना के बाद संदिग्ध परिस्तिथियों में गायब हो जाने वाले जेएनयू में एमएससी फर्स्ट इयर के छात्र नजीब अहमद की खोज निकालने और उसके परिजनों के लिए हक की आवाज़ उठाने वालों पर सीबीआई ने शिंकजा कसना शुरू कर दिया है।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उसके तहत सीबीआई ने उन लोगों से पूछताछ करना शुरू कर दिया है, जो अब तक नजीब के लिए इंसाफ की आवाज़ संविधानिक अधिकार के तहत उठा रहे थे। प्राप्त जानकारी के मुताबिक सीबीआई ने छात्र नेता उमर खालिद और यूनाइटेड अगेंस्ट हेट के सदस्य नदीम खान से मंगलवार के दिन लगभग तीन घंटे पूछताछ की।

सीबीआई ने उन दोनों लोगों से उनकी पोर से किये जाने वाले प्रदर्शनों, किस वजह से नजीब के लिए संघर्ष कर रहे हैं और क्यों कर रहे हैं, जैसे सवाल किए, जिनका उन लोगों ने इत्मिनान के साथ जवाब दिया। सकिर्य समाजसेवी नदीम खान ने संवादाता से बात करते हुए बताया कि सीबीआई ने उन्हें नोटिस दिया था, आज वह दिन में 10 बजे से पहले ही सीबीआई हेडक्वार्टर पहुंच गए थे, उनके साथ उमर खालिद भी थे।

Top Stories