CBSE ने छात्रों से पूछा, मरने वाले को दफनाना चाहिए या जलाना चाहिए

CBSE ने छात्रों से पूछा, मरने वाले को दफनाना चाहिए या जलाना चाहिए

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) के कक्षा 12वीं के बायोलॉजी की परीक्षा में पूछे गए सवाल पर विवाद शुरू हो गया है। कुछ ने बोर्ड के इस प्रश्न पर सवाल उठाया है। लोगों का कहना है कि इस प्रश्न से कॉपी जांचने वाले को मालूम चल जाएगा कि छात्र का धर्म क्या है।

दरअसल, 12वीं के परीक्षा में बोर्ड ने पूछा था कि आदमी को मरने के बाद उसे जलाना चाहिए या दफनाना चाहिए। बोर्ड ने इस प्रश्न का जवाब विस्तार से मांगा था।

हालांकि विवाद को लेकर अध्‍यापकों का कहना है कि यह प्रश्न वायु प्रदूषण के बायोलॉजी का सिलेबस है और पेपर में अधिकतर प्रश्‍न किताब से ही पूछे जाते हैं। उनका कहना है कि यह प्रश्न वायु प्रदुषण के संबंध में पूछा गया है।

बता दें कि बायोलॉजी के इस पेपर को आलोक भट्ट नाम के एक व्यक्ति ने ट्वीट कर मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से पूछा है कि इस तरह का प्रश्‍न बायोलॉजी के पेपर में कैसे पूछा जा सकता है। उन्होंने पूछा है कि क्‍या सीबीएसई दफनाने को प्रमोट करना चाहती है।

अब सोशल मीडिया पर यह पेपर वायरल हो रहा है। इसको लेकर कई लोगों ने सरकार पर शिक्षा को भगवाकरण करने का आरोप लगाया है।

https://twitter.com/abhaynath_m/status/849811664861974529

https://twitter.com/IndiaNotSecular/status/849602106071724032

Top Stories