Sunday , February 25 2018

CCTV फुटेज से प्रवीण तोगड़िया के झूठ का पर्दाफाश, सारे इल्ज़ाम सवालों के घेरे में!

नई दिल्ली। विश्व हिंदू परिषद के अंतर्राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने मंगलवार को एक प्रेस कांफ्रेंस में आरोप लगाया था कि उनके खिलाफ साजिश रची जा रही है और उनका एनकाउंटर किया जा सकता है।

गुजरात क्राइम ब्रांच ने तो पहले ही तोगड़िया के आरोपों को झूठा करार दे दिया है और अब ऐसे सबूत सामने आए हैं जो तोगड़िया के झूठ से पर्दा उठा रहे हैं।

जी हां, ग्यारह घंटे तक लापता रहे प्रवीण तोगड़िया ने कैमरे के सामने एक के बाद एक गंभीर आरोप लगाए। साजिश, एनकाउंटर और अपनी बेहोशी को लेकर तमाम बातें कही लेकिन अब दो वीडियो सामने आए हैं, जो तोगड़िया के झूठ का पर्दाफाश कर रहे है।

पहला वीडियो 27 सेकंड का है। मंगलवार देर रात 11 बजे वायरल हुए इस वीडियो में दिख रहे शख्स का नाम है घनश्याम चरणदास। घनश्याम चरणदास वीएचपी कार्यकर्ता के साथ तोगड़िया के अच्छे मित्र भी हैं। सोमवार को वीएचपी दफ्तर से निकलने के बाद तोगड़िया इन्हीं के घर पर गए थे।

वीडियो में घनश्याम ये कन्फेस कर रहे हैं कि तोगड़िया के गायब होने का असली मकसद सरकार विरोधी माहौल बनाना था। वीडियो में घनश्याम किसी को ये बता रहे हैं कि तोगड़िया की गिरफ्तारी की अफवाह के बाद समर्थक सड़कों पर निकल पड़े हैं और कई शहरों में हंगामा और प्रदर्शन हो रहा है। ऐसे में सरकार के सामने माहौल बनाने का ये अच्छा मौका है।

वहीं दूसरे वीडियो में तोगड़िया एक घर में दाखिल होते हुए दिख रहे हैं। वीडियो में तोगड़िया के साथ एक और शख्स है। इनके बारे में कहा जा रहा है कि ये घनश्याम चरणदास ही हैं।

अब सवाल ये है कि आखिर तोगड़िया झूठ क्यों बोल रहे हैं और ये झूठ बोलकर वो किसे फंसाना चाहते थे। वीएचपी के फायरब्रांड नेता प्रवीण तोगड़िया का ये रूप पहली बार दिखा था।

जिस नेता के बयान विवाद बनते थे, जिस नेता की जुबान खुलते ही विरोधियों को नस्तर की चुभते थे, उस नेता को दुनिया ने पहली बार रोते हुए देखा।

TOPPOPULARRECENT