Saturday , July 21 2018

संसद और विधानसभा में महिलाओं को आरक्षण देने के खिलाफ हैं केंद्रीय मंत्री वाई एस चौधरी

नई दिल्ली: आज जहाँ एक तरफ महिलाओं को बराबरी का दर्जा देने की बात हर तरफ कही जा रही है वहीँ दूसरी तरफ केन्द्रीय मंत्री वाई एस चौधरी ने महिलाओं की योग्यता पर सवाल उठाते हुए शर्मनाक ब्यान दिया है। उन्होंने कहा कि महिलायें दोहरा रवैया अपनाती हैं और दो महिलाएं साथ मिलकर काम नहीं कर सकतीं।

महिला कोटे पर बात करते हुए केंद्रीय विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री चौधरी ने अपनी सरकार से बिलकुल उल्टा जाते हुए कहा कि पहले महिलाओं की प्राथमिकताएं कुछ होती हैं, अपने करियर को लेकर एक्टिव रहने वाली महिलाएं मां बनते ही अपनी सब भूल जाती हैं। उसके बाद वह सिर्फ ये चाहती हैं कि उसका बेटा आगे बढ़े।

महिला आरक्षण बिल के मुद्दे पर चौधरी ने कहा कि हम संसद और विधानसभाओं में महिलाओं को आरक्षण दिए जाने के पक्ष में नहीं हैं। क्योंकि असल में महिलायें काम नहीं करती, पीछे से पुरष ही काम करते हैं। पंचायतों में महिलाओं को आरक्षण दिए जाने का अनुभव अच्छा नहीं है।

TOPPOPULARRECENT