Monday , July 16 2018

छत्तीसगढ़: आदिवासी समाज द्वारा किए गए बस्तर बंद का दिखा मिला-जुला असर

छत्तीसगढ़: बस्तर में आदिवासी समाज द्वारा इलाके में बंद का मिला-जुला असर देखने को मिला। दरअसल दंतेवाड़ा जिले के पालनार छात्रावास में छात्राओं के साथ सीआरपीएफ जवानों द्वारा छेड़खानी और पखांजूर में आदिवासी समाज और बंगीय समाज के बीच हुए झगड़ों को लेकर सर्व आदिवासी समाज ने आज बस्तर संभाग बंद करने का ऐलान किया था.

जिला मुख्यालय जगदलपुर शहर के गोलबाजार इलाके की दुकानों में ताला लटका मिला। वहीं संजय बाजार, मेन रोड, कुम्हारपारा, मूर्ति लाइन सहित ग्रामीण इलाकों में बंद का कोई खास असर नजर नहीं आया।

हालांकि शहर के सिनेमाघर और पेट्रोल पंप बद हैं, लेकिन स्कूल औरकॉलेज खुले रहे। इसके साथ बैंक और यातायात सुविधाओं को मुक्त रखा गया है।

आदिवासी समाज प्रमुखों का दावा हैं कि बंद को लेकर उन्होंने हर जिले और ब्लॉक मुख्यालयों में आदिवासी नेता से बातचीत की हैं उस लिहाज से बस्तर बंद पूरी तरह से सफल होगा।

बस्तर बंद के मद्देनजर प्रशासन भी सतर्क है और हर हाल में शांति व्यवस्था बनाए रखने के कोशिश की जा रही है ल कांकेर रेंज के डीआईजी रतनलाल डांगी मंगलवार को पखांजूर पहुंचे और सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

TOPPOPULARRECENT