चीनी मुसलमानों को लेकर गिलानी के बयान ने पाकिस्तान और चीन के रिश्तों को बिगाड़ा?

चीनी मुसलमानों को लेकर गिलानी के बयान ने पाकिस्तान और चीन के रिश्तों को बिगाड़ा?

चीन के शिनजियांग में उइगर मुस्‍ल‍िमों के साथ चीन लगातार अत्याचार कर रहा है। इस मामले में पाकिस्तान ने अपनी आंखे मूंद रखी हैं। वहीं अन्य मुस्लिम देशों ने भी चुप्पी साध रखी है। पिछले दिनों कश्मीर के अलगावादी नेता और ऑल पार्टी हुर्र‍ियत कांफ्रेंस के चेयरमैन सैय्यद अली शाह गिलानी ने इस पर चिंता जताई है।

गिलानी ने कहा था कि चीन उइगर मुसलमानों के साथ अच्छा व्यवहार नहीं कर रहा है। उन्हें जबरदस्ती कैंपों में बंद करके रखा गया है। ऐसा माना जा रहा है कि गिलानी के इस बयान के बाद चीन भड़क गया है। पाक मीडिया के हवाले से आई खबरों में कहा गया है कि इस बारे में चीनी विदेश विभाग पाकिस्तान से औपचारिक विरोध दर्ज करा सकता है।

पत्रिका पर छपी खबर के अनुसार, कश्मीर के सभी अलगाववादी गुट पाकिस्तान के मुखौटे हैं। पाकिस्तान इन्हें भारत के खिलाफ समय-समय पर इस्तेमाल करता रहता है।

पाकिस्तान और अलगावादियों के बीच गठजोड़ किसी से छिपा नहीं है। इस मामले चीन भी हमेशा चुप्पी साधे रहता है। कई मौकों पर चीन अलगाववादियों को शह भी देता है। लेकिन गिलानी की उइगर मुसलमानों पर की गई टिप्पणी चीन को नाराज़ कर सकती है।

Top Stories