Thursday , January 18 2018

CM योगी ने समाजवादी पेंशन पर लगाई रोक, 55 लाख लोगों के हाथ फिर खाली

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी दूसरी कैबिनेट बैठक में सपा सरकार की ‘समाजवाजी पेंशन योजना’ पर रोक लगा दी है। मुख्यमंत्री ने इस योजना की जांच के भी आदेश दिए है। जांच अधिकारियों से कहा गया है कि वे पता लगाएं की योजना का लाभ किन लोगों को मिल रहा है। इस मामले की जांच एक महीने भीतर करने के आदेश दिए गए हैं।

वहीं दूसरी तरफ अखिलेश सरकार की साइकल योजना पर भी संकट के बादल घिरते नजर आ रहे है। इसको लेकर उप-मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने पीडब्ल्यूडी विभाग के अफसरों के साथ बैठक की है। बैठक के बाद उप-मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां सड़कें संकरी हैं और लोगों को गाड़ियां चलाने में दिक्कतें होती है, ट्रैफिक जाम लगता है, वहां इन्हें तोड़ देना चाहिए।

खबरों के मुताबिक, योगी सरकार ऐसे साइकल ट्रैक्स की लिस्ट तैयार कर रही है, जहां इनकी वजह से जाम लगता है। हालांकि पीडब्ल्यूडी के अपर मुख्य सचिव सदाकांत का कहना है कि अभी इस पर कोई निर्णय नहीं लिया गया है।

इसके अलावा योगी सरकार ने विधवा पेंशन, दिव्यांगजन पेंशन और वृद्धावस्था पेंशन की राशि दोगना करने को कहा है। इसके लिए प्रस्ताव बनाकर कैबिनेट में पेश करने के आदेश दिए गए हैं। बता दें कि समाजवादी पेंशन योजना के तहत गरीब परिवारों को हर महीने 500 रुपये देने का प्रावधान था, जिसे अब बढ़ाकर 1000 कर दिया गया है।

सरकार ने कहा है कि किसी भी योजनाओं के लिए पैसे की कमी नहीं होने दी जाएगी। हालांकि योगी सरकार ने समाजवादी पेंशन योजना का नाम बदलकर मुख्यमंत्री पेंशन योजना करने के निर्देश दिए हैं। इसके अलावा अखिलेश सरकार की ‘शादी अनुदान योजना’ का नाम भी बदल दिया गया है। अब यह ‘कन्यादान योजना’ के नाम से जाना जाएगा।

 

TOPPOPULARRECENT