Tuesday , December 12 2017

दलितों के विरोध के बीच CM योगी बोले, हमें जाति-मज़हब से ऊपर उठकर देश के विकास की बात करनी चाहिए

मेरठ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मंगलवार को मेरठ में एक सभा के दौरान कहा कि जो कौम अपने इतिहास को सजों कर नहीं रख सकती, वो अपने भूगोल की रक्षा भी नहीं कर सकती। उन्होंने कहा कि हमें देश के विकास की बात करनी चाहिए।

मुख्यमंत्री ने कहा, ”जाति-मजहब से ऊपर उठकर देश के विकास की बात करनी चाहिए। 2014 में आपने नरेंद्र मोदी को पीएम बनाया। आज आप सब देख रहे हैं कि वो देश ही नहीं विश्व में लोकप्रिय नेता बन चुके हैं।”

उन्होंने कहा, ”यूपी सरकार भी इसी तरह से काम करना चाहती है। हम भी सबका साथ सबका विकास के तहत काम करना चाहते हैं। परिवर्तन सिर्फ राजनीतिक परिवर्तन न होकर यह सामाजिक परिवर्तन होना चाहिए। हम भेदभाव नहीं करेंगे।”

इसके बाद योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अभी एक लिस्ट जारी हुई जिसमें यूपी का सिर्फ एक शहर साफ शहरों में जगह बना सका है।

वहीं 52 शहरों को गंदे शहरों के तौर पहचान किया गया। उन्होंने कहा कि यह सर्वे सरकार बनने से पहले का था। इस स्थिति को बदलने की जरूरत है। हमें प्लास्टिक के प्रयोग बंद करना होगा। इससे नालियां भी बंद नहीं होंगी।

लेकिन दूसरी तरफ योगी के मेरठ पहुंचने पर हंगामा भी हुआ। यहां शेरगढ़ी गांव के लोगों ने आसपास के दुकानों में तोड़फोड़ की और मुख्यमंत्री का पोस्टर भी फाड़ दिया।

यहां के लोगों का कहना है कि यहां जो भी आता है सबसे पहले डॉ. भीम राव अंबेडकर की मूर्ति पर माल्यापर्ण करता है। योगी ने ऐसा नहीं किया जो कि दलितों का अपमान है।

TOPPOPULARRECENT