उत्तराखंड के डीजीपी ने तबलीगी जमात से लौटने वालों को दी चेतावनी!

उत्तराखंड के डीजीपी ने तबलीगी जमात से लौटने वालों को दी चेतावनी!

कोरोना वायरस के कहर से पूरे देश के होश फाख्ता है। इन सबके बीच संक्रमण के फैलने व एहतियात बरतते हुए उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अनिल कुमार रतूड़ी ने एक वीडियो संदेश जारी कर, निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमात से लौटे लोगों को चेतावनी दी है।

 

 

वीडियो संदेश में कहा कि यदि 6 अप्रैल तक उन्होंने अपनी सूचना पुलिस को नहीं दी, तो उनके खिलाफ डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के साथ ही आईपीसी के तहत हत्या के प्रयास में भी मुकदमा दर्ज किया जाएगा।

 

अगर, इनकी लापरवाही या तथ्यों को छिपाने की वजह से किसी की मृत्यु हो जाती है, इनके खिलाफ हत्या का ट्रायल चलाया जाएगा।

 

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से पूरा विश्व बुरी तरह प्रभावित है। पुलिस और प्रशासन लगातार आग्रह कर रहे हैं कि दिल्ली में तबलीगी जमात से लौटकर आए लोग अपने बारे में सूचना उपलब्ध करा दें, ताकि इन लोगों को एहतियात के तौर पर क्‍वारंटीन में रखा जा सके।

 

लेकिन इसके बाद भी पुलिस और प्रशासन को सूचनाएं नहीं दी जा रही हैं। इससे कोरोना वायरस का संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ रहा है।

 

महानिदेशक ने अपने वीडियो संदेश में कहा है कि निजामुद्दीन मरकज के तबलीगी जमात से आने वाले 6 अप्रैल तक प्रशासन के सामने आ जाएँ।

 

यदि इसके बाद पता चलता है कि उन्होंने जानकारी छिपाई जिसके कारण यह कोरोना वायरस संक्रमण हो रहा है, तो हम डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट तथा आईपीसी के तहत हत्या के प्रयास की धारा में मुकदमा कराएंगे।

 

6 अप्रैल के बाद अगर कोई जमाती प्रशासन को कहीं मिला तो उसे बख्शा नहीं जायेगा और विभिन्न धाराओं में उसके खिलाफ डिजास्टर एक्ट के तहत कार्रवाई होगी।

 

साभार- नवभारत टाइम्स

Top Stories