Saturday , May 26 2018

झारखंड में साम्प्रदायिक हिंसा, विशेष समुदायों के धार्मिक स्थल और घर पर हमला

झारखण्ड में सांप्रदायिक हिंसा की आग एक बार भड़क उठी है, इस बार कोडरमा जिले के नावाडीह गांव में कुछ लोगों को प्रतिबंधित मांस का टुकड़ा और हड्डी मिलने के बाद लोगों ने कोहराम मचा दिया।

जब इसकी भनक एक संगठन को लगी तो उन्होंने एक समुदाय विशेष को लक्ष्य करके तोड़ फोड़ आरम्भ कर दी, जिसके बाद यह सिलसिला बढ़ता ही गया।

हिंसा के दौरान कई परिवारों के घर के सामान, टीवी, अलमारी आदि को क्षतिग्रस्त कर दिया गया, घर के बाहर खड़ी कार, ऑटोरिक्शा, कई मोटर साइकिलें तथा अन्य वाहनों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया, सभी उपद्रवी लाठी-डंडे से लैस थे, सुबह करीब साढ़े दस बजे गांव पहुंचने के बाद उन्होंने बवाल करना शुरू कर दिया।

इस दौरान गांव के धार्मिक स्थल को भी उपद्रवियों ने क्षति पहुंचाई. संगठन के इस उपद्रव के बाद दूसरे समुदाय ने भी मोर्चा खोला और लाठी डंडे लेकर सड़कों पर निकल पड़े। घटना की खबर पाकर स्थानीय पुलिस शीघ्र ही घटना स्थल पर पहुंचीं और उपद्रवियों को खदेड़ा।

उपद्रवी इतनी ज्यादा तादाद में थे कि डोमचांच, कोडरमा एवं नवलशाही, इन तीन थानों की पुलिस को मिलकर उपद्रवियों पर काबू पाना मुश्किल। यहाँ तक कि पुलिस को लाठीचार्ज का भी इस्तेमाल करना पड़ा. पुलिस ने भीड़ को नियंत्रित करने के बाद घायलों को अस्पताल पहुँचाया और कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया।

एसपी शिवानी तिवारी ने घटना के बाद सहमे लोगों को विश्वास दिलाया कि अब दोबारा कोई इस तरह की हरकत करने की हिमाकत नहीं करेगा, गांव में पुलिस बल को तैनात कर दिया गया है।

TOPPOPULARRECENT