पेट्रोल और सीएनजी अब घर- घर पहुंचाने की तैयारी!

पेट्रोल और सीएनजी अब घर- घर पहुंचाने की तैयारी!

अब आपको अपने वाहन के लिए घर बैठे ही पेट्रोल मिल सकता है।दरअसल, सरकार पेट्रोल और CNG की होम डिलीवरी पर विचार कर रही है और जल्द ही तेल कंपनियों को इसकी इजाजत मिल सकती है।

 

न्यूज़  बाइट्स पर छपी खबर के अनुसार, केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने शुक्रवार को इस बात का संकेत दिया कि लॉकडाउन के कारण वाहन मालिकों को हो रही परेशानी का हल करने के लिए सरकार तेल और गैस की होम डिलीवरी शुरू करने की छूट दे सकती है।

 

 

डीजल की तरह सरकार पेट्रोल, LNG और CNG की होम डिलीवरी शुरू कर सकती है। लोगों को भविष्य में घर बैठे ही ईंधन मिल सकेगा।

 

जानकारी के लिए बता दें कि देश की सबसे बड़ी तेल कंपनी इंडियन ऑयरल कॉरपोरेशन ने 2018 में चुनिंदा शहरों में मोबाइल डिस्पेंसर से डीजल की होम डिलीवरी शुरू की थी।

अब इसका दायरा बढ़ाकर पेट्रोल और दूसरे ईंधन भी इसके तहत लाये जा सकते हैं।

 

भारत दुनिया में तीसरा सबसे बड़ा तेल खरीदने वाला देश है, लेकिन लॉकडाउन के कारण यहां इसकी खपत में भारी गिरावट देखी गई है। अप्रैल महीने में भारत में ईंधन की खपत 70 प्रतिशत कम हो गई है। पेट्रोल-डीजल की मांग भी घटी है।

 

हाल ही में एक भारतीय स्टार्टअप रेपोस एनर्जी (Repos Energy) ने ऐलान किया था वह ईंधन की होम डिलीवरी करने के लिए मोबाइल पेट्रोल पंप लाएगा। रेपोस को टाटा ग्रुप से फंडिंग मिली है।

 

पुणे स्थित इस स्टार्टअप ने कहा था कि वह इस वित्त वर्ष देशभर 3,200 ऐसे पेट्रोल पंप शुरू करेगा।

 

फिलहाल रेपोस के पास ऐसे 300 पेट्रोल पंप हैं, जो चलते-चलते ईंधन की सप्लाई करते हैं। ग्राहक मोबाइल ऐप के जरिये इनकी सेवा ले सकते हैं।

 

प्रधान ने कहा कि कुछ पेट्रोल पंप को दोबारा से तैयार किया जाएगा ताकि वहां पर CNG, LNG और PNG समेत सभी तरह का ईंधन मिल सके। इससे ग्राहकों को काफी सहूलियत होगी और उन्हें घंटो इंतजार नहीं करना पड़ेगा।

 

प्रधान गुजरात, हरियाणा, झारखंड, कर्नाटक, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, दिल्ली, पंजाब, राजस्थान, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश के 56 नए CNG स्टेशन के उद्घाटन के मौके पर बोल रहे थे। इन स्टेशनों से रोजाना 50,000 वाहनों को फायदा होगा।

Top Stories