कोविड-19: अमरीका का बुरा हाल, न्यूयॉर्क के लिए चीन ने 1000 वेंटिलेटर भेजा!

कोविड-19: अमरीका का बुरा हाल, न्यूयॉर्क के लिए चीन ने 1000 वेंटिलेटर भेजा!

स्थानीय समय के अनुसार, 4 अप्रैल को न्यूयॉर्क राज्य के गर्वनर एंड्रयू क्यूमो ने कोरोना वायरस निमोनिया महामारी को लेकर आयोजित दैनिक प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि न्यूयॉर्क राज्य में संक्रमित मामलों की संख्या 1.1 लाख के पार हो गई।

 

सी आर आई हिन्दी डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार 3 अप्रैल को मरने वालों की संख्या 630 है, जो अभी तक एक ही दिन में सबसे ज्यादा है।

 

न्यूयॉर्क राज्य में अब तक कुल 3565 लोग नए कोरोना वायरस की वजह से मर गए।

 

एंड्रयू क्यूमो ने कहा कि न्यूयॉर्क राज्य में अभी भी वेंटिलेटर की कमी हो रही है। चीनी सरकार और न्यूयॉर्क में चीनी जनरल कांसुलेट की मदद में अलीबाबा पब्लिक वेलफेयर फाउंडेशन और जो त्सई फाउंडेशन आदि ने न्यूयॉर्क राज्य को 1000 वेंटिलेटर दान किए, जिन्हें स्थानीय समय के अनुसार 4 अप्रैल को जेएफके इंटरनेशनल एयरपोर्ट तक लाया जाएगा।

 

क्यूमो ने चीन को और न्यूयॉर्क में चीनी महावाणिज्य दूतावास का आभार व्यक्त किया और कहा कि ये महामारी से लड़ने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे।

 

क्यूमो ने कहा कि न्यूयॉर्क राज्य में महामारी की गंभीरता अभी भी बढ़ रही है और अगले 5 से 8 दिनों में शीर्ष पर पहुंचने की उम्मीद है।

 

 

पत्रिका पर छपी खबर के अनुसार, कोरोना वायरस के कहर से पूरी दुनिया बेहाल है। इस वायरस से मृतकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की कोरोना टेस्ट रिपोर्ट दूसरी बार निगेटिव आई है।

 

शुक्रवार को सबसे अधिक 1480 लोगों की मौत हुई। इससे एक दिन पहले अमेरिका में 24 घंटे में 1169 लोगों की मौत हो चुकी है। वहीं 12 हजार से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं।

 

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस की वजह से दुनियाभर में अब तक 59 हजार से ज्यादा लोगों की जानें जा चुकी हैं। करीब दस लाख से ज्यादा लोग संक्रमित हैं।

 

चीन ने मृतकों की याद में आज शोक दिवस मनाने का फैसला किया है तो सिंगापुर में एक महीने के लॉकडाउन की घोषणा की गई है।

 

कोरोना वायरस की जद में दुनियाभर के 204 देश आ चुके हैं। इस महामारी से अमरीका बुरी तरह प्रभावित है। अमरीका में संक्रमितों की कुल संख्या दो लाख 44 हजार हो गई है।

 

अमरीका में चिकित्सीय व्यवस्था चरमराती जा रही है। यहां पर वेंटिलेटर की भारी कमी देखने को मिल नहीं है। बताया जा रहा की इसे रूस से मंगाया जा रहा है।

Top Stories