पहले चरण में स्वास्थ्य कर्मचारियों को दी जायेगी कोविड-19 की वैक्सीन!

, ,

   

कैमूर जिले में कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर टीकाकरण की कवायद शुरू कर दी गई है। इसके लिए जिला स्वास्थ्य विभाग जरूरी तैयारियों में जुट गया है।

जागरण डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, टीकाकरण के प्रथम चरण में स्वास्थ्य कर्मियों को टीकाकृत करने की योजना है। इसमें सभी सरकारी व गैर सरकारी संस्थानों में कार्यरत स्वास्थ्य कर्मियों के साथ-साथ आइसीडीएस कर्मियों को भी शामिल किया गया है।

पहले चरण में टीकाकरण के लिए डाटाबेस तैयार किया जा रहा है। दिसबंर माह के पहले सप्ताह के अंत तक ये डेटाबेस तैयार कर लिए जाने की संभावना है।

इसे निर्धारित पोर्टल पर अपलोड किया जाना है, ताकि कर्मियों की संख्या सरकार के संज्ञान में आ सके। कोविड वैक्सीन सभी को नि:शुल्क उपलब्ध कराई जाएगी।

बिहार सरकार के स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव प्रत्यय अमृत ने जिला पदाधिकारी को पत्र लिखकर कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर टीकाकरण हेतु जिला एवं प्रखंड स्तर पर टास्क फोर्स के गठन करने का आदेश दिया है।

इसके साथ ही टीकाकरण प्रारंभ किए जाने के पूर्व की तैयारी, वैक्सीन उपलब्ध होने टीकाकरण कराने हेतु माइक्रोप्लान तथा वैक्सीन के रोल आउट के दौरान अन्य नियमित स्वास्थ्य सुविधाओं में किसी प्रकार की कठिनाई न हो।

जारी पत्र के अनुसार जिलास्तरीय टास्क फ़ोर्स में जिला पदाधिकारी अध्यक्ष होंगे एवं जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी सदस्य सचिव की भूमिका में होंगे। इसके अलावा सभी विभागों के प्रमुख को सदस्य बनाया गया है।

इसी क्रम में जिला एवं प्रखंड स्तर पर भी नियमित रूप से कोरोना संक्रमण की टीकाकरण की तैयारी हेतु समीक्षा की जानी है, जिसमें स्वास्थ्य विभाग के साथ-साथ अन्य विभागों की सहभागिता को अत्यंत आवश्यक बताया गया है।

जारी पत्र में टीकाकरण के पहले चरण में सभी सरकारी व गैर सरकारी स्वास्थ्य कर्मियों को शामिल करने की योजना है।

आइसीडीएस कर्मी सेविका, सहायिका, एलएस, सीडीपीओ व आइसीडीएस, डीपीओ कार्यालय के विभिन्न कर्मी भी इसमें शामिल हैं।

हेल्थ वर्कर में स्वीपर, आउट सोर्सिंग के वर्कर, एंबुलेंस चालक सहित अन्य को पहले चरण में टीकाकृत करने की योजना है।