भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल को मंजूरी!

भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल को मंजूरी!

देश में कोरोना की वैक्सीन को लेकर एक बड़ी खबर आ रही है। भारत की ड्रग नियामक संस्था ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल को मंजूरी दे दी है।

जागरण डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, भारत में कोरोना की दो स्वदेशी वैक्सीन में से भारत बायोटेक की कोरोना वैक्सीन एक है। इसके अलावा भारत में जायडस कैडिला की स्वदेशी वैक्सीन का ट्रायल भी जारी है।

भारत बायोटेक की वैक्सीन का नाम कोवाक्सिन(Covaxin) है। गौरतलब है कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के सहयोग से भारत बायोटेक कोवाक्सिन टीका स्वदेशी रूप से विकसित कर रही है।

भारत बायोटेक ने कोरोना वैक्सीन के पहले और दूसरे चरण के ट्रायल के डाटा के साथ एनिमल चैलेंज डाटा पेश किया था। सारा डाटा देखकर हुई चर्चा के बाद ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने इसे मंजूरी दी है।

हैदराबाद स्थित टीका बनाने वाली भारत बायोटेक ने बीते दिनों दो अक्टूबर को ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) को आवेदन देकर वैक्सीन के तीसरे चरण के ट्रायल की अनुमति मांगी थी।

कंपनी ने अपने आवेदन में कहा था कि इस ट्रायल में 18 या उससे अधिक उम्र के 28,500 लोगों को शामिल किया जाएगा और यह ट्रायल देश के 10 राज्यों में 19 जगहों पर किया जाएगा। इसमें दिल्ली, मुंबई, पटना और लखनऊ शामिल हैं।

बिहार विधानसभा चुनाव में राज्य के सभी लोगों को मुफ्त कोरोना वैक्सीन देने के वादे के साथ देश में फिलहाल वैक्सीन चर्चाओं में है। इसके बाद कई राज्यों ने मुफ्त वैक्सीन देने की बात कही है।

मध्य प्रदेश और तमिलनाडु के मुख्यमंत्रियों ने अपने राज्यों में मुफ्त वैक्सीन देने का एलान किया है।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को ग्वालियर के दशहरा मैदान में आयोजित चुनावी सभा में घोषणा की कि प्रदेश के गरीबों को कोरोना वैक्सीन मुफ्त में दी जाएगी।

वहीं, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री के. पलानीस्वामी ने कहा,जैसे ही वैक्सीन उपलब्ध होगी, समाज के सभी तबके के लोगों को इसे उपलब्ध कराया जाएगा। इसका खर्च सरकार वहन करेगी।

Top Stories