गौरक्षकों का आतंक: बुजुर्ग समेत 11 दलितों को बुरी तरह पीटा, कहा- तुम मुस्लिम हो जो गोमांस खाते हो?

गौरक्षकों का आतंक: बुजुर्ग समेत 11 दलितों को बुरी तरह पीटा, कहा- तुम मुस्लिम हो जो गोमांस खाते हो?
Click for full image
सांकेतिक तस्वीर

तेलंगाना के यादरी भुवनागिरी जिले  दलितों ने अपने साथ  गोरक्षा के नाम पर की हुई  हिंसा के खिलाफ भूख हड़ताल की है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक सोमवार (14 जनवरी) की रात कुछ मोटरसाइकिल सवार हाथों में डंडे लेकर आए और गांव वालों को पीटकर उनके घरों में तोड़फोड़ मचाई और एक दुधारू गाय को चुरा ले गए। मामला  की भनक गुरुवार (18 जनवरी) को लगी । जनसत्ता की खबर के मुताबिक  मामले में बीजेपी और आरएसएस के आदमियों के शामिल होने की आशंका जताई जा रही है। खबर के मुताबिक गांव वाले संक्राति के त्योहार को मनाने के लिए इकट्ठा हुए थे। इसमें मडीगा समुदाय के बुजुर्ग भी शामिल थे। चश्मदीदों के मुताबिक परंपरा के अनुसार एक गाय का वध करने की तैयारी चल रही थी। लेकिन हमलावरों ने उनके जश्न में खलल डाल दी।

एक चश्मदीद के मुताबिक – ”हम एक गाय का वध करने वाले ही थे कि तभी अचानक मोटरसाइकिलों पर सवार लोग आ धमके। करीब 20-30 लोग हाथों में डंडे लेकर हम पर हमला करने आए थे। हम लोग अंधेरे की तरफ भागे, लेकिन हम में से कुछ लोग उनकी पकड़ में आ गए और हमलावरों ने उन्हें बेरहमी से मारा पीटा और अपशब्द कहे।” चश्मदीद ने आगे कहा- ”उन्होंने हमसे कहा कि क्या तुम मुस्लिम हो जो गोमांस खाते हो?”

पीड़ितों की शिकायत के आधार पर पुलिस ने संबंधित धाराओं में आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली है। दलित बहुजन समाज सेवियों ने गुरुवार को गांव वालों के साथ एकजुटता दिखाते हुए भूख हड़ताल कर घटना की निंदा की। उन्होंने पुलिस उपायुक्त को एक ज्ञापन भी सौंपा। समाजसेवियों ने मामले में एससी और एसटी के अत्याचार मामले के तहत कार्रवाई करने की मांग की है और यहा भी कहा है कि इलाके में लोगों की सुरक्षा तय करने के लिए एक पुलिस चौकी भी बनाई जाए।

 

 

साभार- जनसत्ता

Top Stories