क्रिकेटर सरफराज खान प्रवासी मजदूरों को बांट रहे हैं खाना!

क्रिकेटर सरफराज खान प्रवासी मजदूरों को बांट रहे हैं खाना!

घर आने के बाद लॉकडाउन के कारण मुंबई न लौट सके आइपीएल क्रिकेटर सरफराज खान ने अबकी ईद की खुशियां मनाने का अंदाज ही बदल दिया है।

 

जागरण डॉट कॉम पर छपी खबर के अनुसार, उन्होंने प्रवासियों की सेवा में ही ईद की खुशियां महसूस की और परमार्थ के पिच पर उतरकर रोज छाक्का लगा रहे हैं।

 

 

यानी गोरखपुर मार्ग पर अंजान शहीद और बागखालिस बाजार के बीच ट्रकों पर सवार होकर गुजरने वाले प्रवासियों को रोककर फल, बिस्किट और पानी देने के बाद ही आगे जाने दे रहे हैं।

 

अच्छी बात यह कि उनके इस निर्णय को छोटे भाई मुंबई रणजी टीम के कप्तान मुसीर खान, पिता नौशाद खान और माता तबस्सुम बानो ने भी स्वीकार किया और इस वर्ष कोरोना वायरस की महामारी को देखते हुए ईद पर होने वाले खर्च को मुंबई, दिल्ली, हरियाणा, आंध्र प्रदेश, गुजरात से आ रहे प्रवासियों की सेवा में लगाने पर सहमति जताई।

 

सरफराज खान ने कहा कि रमजान के पवित्र महीने में रोजा रखकर निरंतर सेवा करेंगे।

 

क्षेत्र के वासूपार निवासी सरफराज खान आइपीएल क्रिकेट टूर्नामेंट निरस्त होने के बाद अपने घर 10 मार्च को पहुंचे और अब तक लॉकडाउन की वजह से छतरपुर दलेल स्थित ननिहाल शमीम अयूब खान के घर परिवार के साथ रुके हैं।

 

अब तक वितरित किए गए 1000 फूड पैकेट

मीडियाकर्मियों से बात करते हुए सरफराज ने कहा कि यह उनके पिता का विचार है। उन्होंने यह भी कहा कि अब तक, लगभग 1000 खाद्य पैकेट वितरित किए गए हैं। प्रत्येक खाद्य पैकेट में एक सेब, केला, केक, बिस्कुट और पानी की बोतल होती है।

 

कोरोनोवायरस लॉकडाउन के बीच गरीबों की मदद करने के लिए, उन्होंने इस साल ईद नहीं मनाने का फैसला किया।

 

सरफराज खान का क्रिकेट करियर

उल्लेखनीय है कि सरफराज खान रणजी ट्रॉफी में मुंबई के लिए खेलते हैं। वह इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में किंग्स इलेवन पंजाब के लिए भी खेलते हैं।

 

2014 और 2016 के U-19 क्रिकेट विश्व कप में, सरफराज ने भारत का प्रतिनिधित्व किया।

 

सरफराज ने सचिन का रिकॉर्ड तोड़ा

2009 में, 12 साल की उम्र में, उन्होंने हैरिस शील्ड खेल में 421 गेंदों पर 439 रन बनाए और सचिन तेंदुलकर के 45 साल पुराने रिकॉर्ड को तोड़ दिया।

 

 

रणजी ट्रॉफी में उन्होंने 391 गेंदों में 301 रन बनाए। बाद में, उन्होंने मुंबई अंडर -19 टीम के लिए खेलना शुरू किया। उनके अद्भुत प्रदर्शन के आधार पर, उन्हें भारतीय अंडर -19 टीम के लिए चुना गया।

Top Stories