Saturday , December 16 2017

बेरहम यूरोपीय नीतियाँ प्रवासियों के जिंदगी को खतरे में डाल रही हैं: एमनेस्टी

मानवाधिकार संगठन एमनेस्टी इंटरनेशनल ने कहा है कि यूरोपीय संघ के ‘बेरहम’ नीतियों से भूमध्य सागर के ज़रिये यूरोप पहुँचने की कोशिश करने वाले प्रवासियों के जिंदगी को खतरे में डाल रही हैं।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

मानवाधिकार संगठन के अनुसार प्रवासियों के संकट के समाधान के लिए यूरोपीय संघ का लीबिया पर भरोसा प्रवासियों के लिए खतरनाक साबित हो सकता है। एमनेस्टी के अनुसार यह नीतियां प्रवासियों को एक तरह से मजबूर कर रही हैं कि वे अपनी जान जोखिम में डाल कर या तो भूमध्य सागर का यात्रा करें, या फिर लीबिया में तीव्र हिंसा का सामना करें।

गौरतलब है कि गुरुवार को यूरोपीय संघ की ओर से घोषणा की गई थी कि वह लीबिया के कोस्ट गार्ड के लिए मदद में वृद्धि करेगा, ताकि लीबिया के अधिकारी प्रवासियों को यूरोपीय संघ की ओर जाने से रोकें। एमनेस्टी इंटरनेशनल के अनुसार भूमध्य सागर से बचाव संचालन में वृद्धि के बजाय लीबिया के कोस्ट गार्ड की मदद में वृद्धि से यह बात साबित हो गई है कि यूरोपीय संघ प्रवासियों के जीवन की परवाह करने के लिए तैयार नहीं।

एमनेस्टी इंटरनेशनल की ओर से ‘ए परफेक्ट स्ट्रोम’ के नाम से जारी रिपोर्ट में कहा गया है कि यूरोपीय संघ के इस नीति से लीबिया में मौजूद प्रवासियों को मजबूर कर रही है कि वह तुरंत यूरोपीय संघ तक पहुँचने की कोशिश करें, क्योंकि लीबिया के अधिकारियों के हाथों पकड़े जाने पर उन्हें गंभीर प्रकृति के हालात का सामना करना पड़ेगा।

TOPPOPULARRECENT