Tuesday , September 25 2018

बीजेपी शासित राजस्थान में दलितों ने मंदिर में प्रवेश किया तो सवर्णों ने बरसाई लाठियां

बीजेपी शासित राजस्थान में दलितों पर हमले का नया मामला सामने आया है। ख़बर है कि यहाँ जालोर जिले में सियाणा के पास आडवाड़ा गांव के नवनिर्मित मंदिर पर मंगलवार शाम को दलित समाज के लोगों पर हमला कर उन्हें घायल कर दिया गया।

दलितों की गलती इतनी थी कि वह नवनिर्मित मंदिर के दर्शन करने गए थे। गंभीर रुप से घायल तीन लोगों को जालोर रेफर किया गया।

घायलों का कहना है कि जातिसूचक शब्दों से अपमानित करते हुए उनके ऊपर हमला किया गया।

दरअसल मंदिर की सोमवार को ही प्रतिष्ठा हुई थी। जिसके तहत बाड़मेर के चंचल प्रागमठ से संत शंभूनाथ भी आडवाड़ा पहुंचे थे। मंगलवार सवेरे वे अपने भाविकों के साथ रामदेव मंदिर में बैठे थे।

इस दौरान उन्होंने नवनिर्मित मंदिर में दर्शन की इच्छा जाहिर की। जिस पर भाविक उन्हें लेकर मंदिर पहुंचे। जहां पर वे शंभूनाथ, धीरजनाथ, उदाराम व सदाराम समेत मंदिर पहुंचे।

मंदिर से लौटते वक्त मौके पर मौजूद विजयसिंह, मुकेशसिंह, चौथाराम, चेताराम, छगनलाल देवासी समेत अन्य ने घात लगाकर उन पर लाठियों से हमला कर दिया। जिसमें कई लोग घायल हो गए ।

संत शंभूनाथ ने कहा कि घटनाक्रम बेहद शर्मनाक है। कुछ असमाजिक और कुंठित मानसिकता के लोगों ने इस घटना को अंजाम दिया है। संत ने कहा कि जब ईश्वर ने सभी को एकसमान बनाया है तो मन में एक दूसरे के प्रति ऐसी हीन भावना इंसानी प्रवृत्ति नहीं हो सकती।

वहीँ, जालोर पुलिस उप अधीक्षक दुर्गसिंह राजपुरोहित ने कहा कि यह मामला छुआछूत का नहीं है। विवाद खाना बनाने वाले लड़के से हुआ था जिसके बाद मामला मारपीट तक पहुंच गया।

TOPPOPULARRECENT