इकलौते बेटे के मौलाना बनने से आख़िर क्यों डिप्रेशन में है दाऊद इब्राहिम

इकलौते बेटे के मौलाना बनने से आख़िर क्यों डिप्रेशन में है दाऊद इब्राहिम
Click for full image

अंडरव‌र्ल्ड माफिया दाऊद इब्राहिम एक ऐसी मुश्किल में फंस गया है, जिसका उससे समाधान नहीं निकल पा रहा है। दरअसल, मुंबई सीरियल धमाकों के मास्टरमाइंड दाऊद का इकलौता बेटा मोइन नवाज कास्कर (31) मौलाना बन गया है। इसके चलते वह डिप्रेशन में चला गया है।

ठाणे एंटी एक्सटॉर्शन सेल के प्रमुख प्रदीप शर्मा ने बताया कि मोइन अपने पिता की गैरकानूनी गतिविधियों का बहुत बड़ा विरोधी है। उसको लगता है कि इसके चलते पूरी दुनिया में उन लोगों की बदनामी हुई है और ज्यादातर परिजनों को भगोड़ों की तरह रहना पड़ रहा है। शर्मा ने बताया कि दाऊद के छोटे भाई इकबाल इब्राहिम से पूछताछ के दौरान दाऊद के परिवार के बारे में कई महत्वपूर्ण सूचनाएं मिली हैं। फिरौती के तीन मामलों में इकबाल को पिछले सितंबर में गिरफ्तार किया गया था।

इकबाल के अनुसार, दाऊद के बेटे ने पिछले कुछ वर्षो से अपने परिवार से नाता तोड़ लिया है। अपने पिता के कारोबार से भी उसका कोई लेना-देना नहीं है। हालांकि, अभी यह पता नहीं है कि बाप-बेटे में बातचीत होती है या नहीं।

आप को बता दें की ख़बर के मुताविक दाऊद का बेटा मोइन नवाज अब एक सम्मानित मौलाना है और उसे पूरा कुरान याद है। कराची के पॉश इलाके में बने अपने पारिवारिक बंगले को भी उसने छोड़ दिया है और बगल के एक मस्जिद में रहने चला गया है। उसका मुख्य काम युवाओं को कुरान की शिक्षा देना है। उसकी पत्नी और तीन नाबालिग बच्चे भी मस्जिद प्रबंधन की ओर से दिए गए छोटे से कमरे में रह रहे हैं।

 

Top Stories