“सभी धर्मों के लोगों को मिलने वाली सरकारी सहूलियत खत्म हो”

“सभी धर्मों के लोगों को मिलने वाली सरकारी सहूलियत खत्म हो”

नई दिल्ली: देश की कई अहम मुस्लिम संगठनों और लोगों का कहना है कि हज सब्सिडी खत्म करके मोदी सरकार ने मुसलमानों के एक पुराने मांग को पूरा कर दिया है, लेकिन इस सरकार को अब अन्य धर्मों के लोगों को भी धर्म के नाम पर मिलने वाली सहुलतों को खत्म कर देना चाहिए।

Facebook पे हमारे पेज को लाइक करने के लिए क्लिक करिये

उन मुस्लिम संगठनों का यह भी कहना है कि हज यात्रियों को एयरइंडिया से जाने वाली अनिवार्यता से छुटकारा दिलाकर इसके लिए ग्लोबल टेंडर निकाला जाना चाहिए ताकि सस्ती एयर सर्विस प्राप्त हो सके। उनहोंने सउदी अरब में हाजियों के स्थापना और ट्रांसपोर्ट सिस्टम के नाम पर जारी लूट को भी खत्म करने की मांग की गई।

आल इंडिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना खलीलुर रहमान ने बात चीत करते हुए कहा कि हज के नाम पर दी जाने वाली सब्सिडी का पूरा फायदा एयर इंडिया को मिल रहा था। इसलिए मुसलमान एक मुद्दत से इसे खत्म करने की मांग कर रहे थे। उनका कहना था कि भारत एक सेकुलर देश है इस लिए किसी भी धर्म के लोगों को सरकार की ओर से सहूलत नहीं दी जानी चाहिए।

उन्होंने कहा कि जहाँ तक हज सब्सिडी के 200 करोड़ रुपए की रकम का इस्तेमाल मुस्लिम लड़कियों की शिक्षा पर करने की बात है तो मुसलमान इस बात पर नजर रखेंगे कि सरकार मुस्लिम बहुल क्षेत्र में कितने स्कूल और शैक्षिक संस्था खोलते हैं।

Top Stories