Tuesday , December 12 2017

बकरीद के मौके पर सुन्नी और शिया मुसलमान एक साथ करेंगे नमाज़ अदा

नई दिल्ली : ईद उल अजहा पर एक बार फिर अपनी सफों में इत्तेहाद कायम करते हुए देश भर में सुन्नी और शिया मुसलमान कई शहरों और गाँव में एक साथ नमाज़ अदा करेंगे.

इस मौके पर राजधानी नई दिल्ली स्थित दरगाह शाहे मरदा की मस्जिद में बड़ी संख्या में सुन्नी मुसलमान शिया इमाम के पीछे नमाज़ अदा करेंगे. यहाँ अंजुमने हैदरी और मुस्लिम युवकों की संस्था शोल्डर टू शोल्डर मिलकर इसे सफल बनाने में जुटे हैं.

एक प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए वरिष्ट पत्रकार मोहम्मद अहमद काज़मी ने बताया कि जोर बाग़ स्थित दरगाह शाहे मरदा में यह दूसरा मौका है जब सुन्नी मुसलमान शिया इमाम के पीछे ईदुल अजहा की नमाज़ अदा करेंगे.

इस अवसर पर दरगाह शाहे मरदा स्थित कुदसिया मस्जिद के इमाम मौलाना तालिब हुसैन ने बताया कि ऐसे में जब कि एक कलमा अदा करने वाले दुनिया भर के मुसलमान हज के दौरान मक्का में एक इमाम के पीछे नमाज़ अदा कर सकते हैं तो अपने अपने देशों में वापस आकर मुसलमान एक साथ नमाज़ क्यों अदा नहीं कर सकते.

वही इस मौके पर समाज सेवी ओवैस सुल्तान खान ने बताया कि दुसरे देशों में शिया और सुन्नी के दूर हो जाने के नतीजे हमारे सामने हैं. कुवैत में शिया मस्जिद में धमाके के बाद वहां के सुन्नी हज़रात ने शिया इमाम के पीछे उसी मस्जिद में यह कहते हुए नमाज़ अदा की कि यदि कोई खतरा है तो वे भी वहां जान देने के लिए तेयार हैं. तो हिंदुस्तान में भी हम शिया और सुन्नी एक साथ नमाज़ पढ़कर दुनिया को बताएं कि हमारे बीच प्यार है और इसे हर हाल में बाकी रखा जायेगा.

अंजुमने हैदरी के जनरल सेक्रेटरी बहादुर अब्बास नकवी ने बताया कि कई मुस्लिम देशों के राजदूतों और प्रतिनिधियों को आमंत्रित किया गया है. इन देशों की ओर से भी दिलचस्पी दिखाई जा रही है. हमें आशा है की इस बार ईदुल अजहा के अवसर पर दरगाह शाहे मरदा से तमाम मुसलमानों में एकता का सन्देश जायेगा. इस अवसर पर कनाती मस्जिद के इमाम मौलाना मोहम्मद कासिम जैदी ने भी इस एकता की कोशिश की सराहना की.

हालांकि सोशल मीडिया द्वारा देश भर के बहुत से शहरों और गावों से बहुत अच्छी प्रतिक्रिया आई है. अब तक लखनऊ, मेरठ, हैदराबाद, मुंबई, जयपुर और कई अन्य स्थानों से शिया सुन्नी मिलकर नमाज़ अदा करने का कार्यक्रम तय हो चुके हैं. अगले दो दिनों में कुछ और स्थानों से सकारात्मक सूचना मिलने की सम्भावना की बात कही जा रही है.

TOPPOPULARRECENT