Tuesday , January 23 2018

नशा मुक्ति के लिए काम करने वाली महिला को माफिया ने पीटा

देश की राजधानी दिल्ली में गुरुवार को शर्मसार करने वाली घटना हुई। महिला आयोग की वॉलेंटियर (33) ने आरोप लगाया  है कि नरेला इलाके में अवैध शराब बेचने की शिकायत के बाद पुलिस-डीसीडब्ल्यू की कार्रवाई से नाराज माफिया ने उन्हें बीच सड़क पर जमकर पीटा। आरोपियों ने उसके कपड़े तक फाड़ डाले। पीड़ित महिला ने एक वीडियो के जरिए अपना दुखड़ा सुनाया। मामले की जानकारी के बाद सीएम केजरीवाल से लेकर महिला आयोग तक पुलिस प्रशासन पर सवाल उठा रहे हैं।

घटना को लेकर महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति जयहिंद ने कहा कि माफियाओं ने महिला को लोहे की रॉड से पीटा और न्यूड कर गलियों में घुमाया। पुलिस कब तक शराब माफियाओं का साथ देती रहेगी।

स्वाति ने ट्वीट कर कहा, “रात हमने नरेला में घर में बिकती शराब पकड़ी, पुलिस ने बेचने वालो को अरेस्ट नहीं किया। अपराधियों के हौसले इतने बुलंद थे कि उनने DCW वालंटियर के कपड़े फाड़ इलाके में नंगा घुमाया। कोई अरेस्ट न हुआ। महिला की खून खौलाने वाली आप बीती सुनें-”

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक फिलहाल, पीड़ित महिला दिल्ली के अस्पताल में भर्ती है। शुक्रवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उसका हालचाल लिया। घटना को लेकर सीएम ने गुरुवार रात कई ट्वीट को रीट्वीट किए। सीएम ने एलजी से दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की भी मांग की है।

क्या है मामला?

पीड़ित महिला अपने परिवार के साथ नरेला इलाके में रहती है। वह महिला नशा मुक्ति के लिए काम करती है। उन्होंने महिला आयोग से इलाके में घरों में अवैध शराब बेचने वाले लोगों की शिकायत की थी। इसके बाद महिला आयोग की अध्यक्ष ने पुलिस टीम के साथ छापेमारी कर बड़ी मात्रा में शराब बरामद की। जिसके बाद माफिया की ओर से कथित तौर पर इस वारदात को अंजाम दिया गया।

वहीं सामने आए वीडियो में महिला कहती है, ”उन्होंने मेरे कपड़े फाड़े, सबके सामने बेइज्जत किया। इसी हालत में घसीटते हुए जहां शराब पकड़ी थी, वहां तक लेकर गए। मुझे लोहे की रॉड से भी पीटा। कोई गुनाह नहीं किया, मैं तो नशे के खिलाफ जंग लड़ रही थी।”

हालांकि शुक्रवार को पुलिस ने 2 आरोपी महिलाओं को गिरफ्तार किया है।

TOPPOPULARRECENT