Saturday , December 16 2017

नोटबंदी के बाद खूब किया कालेधन को सफेद! 5800 फर्जी कंपनियों की होगी जांच

बीते साल केंद्र सरकार द्वारा की गई नोटबंदी के दौरान कालेधन को सफेद बनाने की कोशिश में बड़ा खुलासा हुआ है।
इस कड़ी में देश के 13 बैंकों ने केंद्र सरकार को कुछ फर्जी कंपनियों द्वारा संदिग्ध लेन-देन की जानकारी दी है।

सरकार को दी गई जानकारी के मुताबिक इन फर्जी कंपनियों में से कुछ के 100 से ज्यादा खाते हैं। एक कंपनी के तो 2134 खाते होने की भी जानकारी मिली है।

इन कंपनियों ने नोटबंदी के बाद ऐसे खातों में करोड़ों रुपया जमा किया। फिलहाल ऐसी 5800 से ज्यादा कंपनियों के आंकड़े सामने आए हैं।

फर्जी कंपनियों के जरिए कालेधन को सफेद बनाने की कोशिश होती थी, जिसके बाद 2 लाख से ज्यादा कंपनियों पर रोक लगा दी है। जोकि मनी लॉन्ड्रिंग और कालेधन को सफेद करने की गतिविधियों में शामिल थी।

नोटबंदी के बाद इन फर्जी कंपनियों ने करीब 4573.87 करोड़ रुपए की लेन-देन की थी। इस मामले में वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा था कि इनकी पहचान होने के बाद इन कंपनियों के खिलाफ बेनामी और इन्कम टैक्स कानूनों के तहत कार्रवाई की जाएगी।

इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए केंद्रीय मंत्री पीपी चौधरी ने कहा है कि कालेधन के ख‍िलाफ सरकार की लड़ाई जारी रहेगी और वैध कंपनियों को इस प्रक्रिया से कोई परेशानी नहीं होगी।

TOPPOPULARRECENT